Friday, December 13, 2019 07:07 PM

रेणु मंच पर पारंपरिक बूढ़ा नृत्य कंपीटीशन

श्रीरेणुकाजी । अंतरराष्ट्रीय श्रीरेणुकाजी मेले में पारंपरिक लोक संस्कृति की अनूठी झलक देखने को मिली। दरअसल यहां पहली बार प्रशासन द्वारा बूढ़ा नृत्य का आयोजन किया गया। प्राचीन संस्कृति के संरक्षण की तरफ कदम बढ़ाते हुए सिरमौर जिला ने इस बार ऐतिहासिक रेणु मंच पर पारंपरिक बूढ़ा नृत्य प्रतियोगिता का आयोजन किया। खास बात यह है कि अंतरराष्ट्रीय रेणुकाजी मेले में पहली बार इस नृत्य का प्रदर्शन किया गया। लोक नृत्य प्रतियोगिता में करीब नौ सांस्कृतिक दलों ने हिस्सा लिया और रेणु मंच पर अपनी प्रस्तुति दी। जिला भाषा अधिकारी सिरमौर अनिल हारटा ने बताया कि संस्कृति के संरक्षण की तरफ कदम बढ़ाते हुए प्रशासन इस बार इन लोक कलाकारों को यहां प्रस्तुति देने का मौका दिया है। पारंपरिक वेशभूषा में सजे कलाकारों ने रेणु मंच पर मनमोहक प्रस्तुति दी। दरअसल बूढ़ा नृत्य में पारंपरिक लोक गाथा के उपर पारंपरिक ढोल-नगाड़ों के साथ कलाकारों द्वारा यह नृत्य किया जाता है।