Monday, August 10, 2020 01:22 PM

रैबीज के इंजेक्शन फिर गायब

हमीरपुर मेडिकल कालेज के बाहर मेडिकल स्टोर से 350 रुपए में मिल रहा टीका, मरीज परेशान

हमीरपुर -डा. राधाकृष्णन मेडिकल कालेज से एंटी रैबीज के इंजेक्शन फिर गायब हो गए हैं। वर्तमान में हालात ऐसे हैं कि एआरवी को खरीदने के लिए मरीजों को दर-दर की ठोकरें खानी पड़ रही हैं। कहीं जाकर किसी बाहरी मेडिकल स्टोर पर यह इंजेक्शन मिल रहा है। अस्पताल में निःशुल्क मिलने वाले इस इंजेक्शन की कीमत बाहरी मेडिकल स्टोर पर 350 रुपए है। तीन मरीज मिलकर इस इंजेक्शन को खरीद रहे हैं। बताया जाता है कि एक इंजेक्शन की तीन डोज बनाई जाती है। ऐसे में रैबीज का इंजेक्शन लगवाने के लिए पहले तीन मरीज ढूंढने पड़ते हैं। बाद में यह मरीज इंजेक्शन पर हुआ खर्च आपस में बराबर बांट लेते हैं। बता दें कि पिछले लंबे अरसे से एंटी रैबीज इंजेक्शन की भारी कमी चल रही है। मेडिकल कालेज से आए दिन यह इंजेक्शन गायब रहता है। यहां आने वाली नामात्र सप्लाई दो दिन में ही समाप्त हो जाती है। इसके बाद हालात फिर बदतर हो रहे हैं। वर्तमान मंे भी यह इंजेक्शन हमीरपुर मेडिकल कालेज में उपलब्ध नहीं है। ऐसे में रैबीज का इंजेक्शन लगवाने के लिए पहुंचने वाले मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पहले तो उन्हें इस इंजक्शन को ढंूढना पड़ रहा है। बाहर मेडिकल स्टोर में भी कहीं जाकर यह इंजेक्शन उपलब्ध है। यहां भी एआरवी के मनमाने दाम वसूले जा रहे हैं। मजबूरी में मरीजों को यह इंजेक्शन महंगी दरों पर खरीदना पड़ रहा है। बता दें कि एक इंजेक्शन की तीन डोज बनाई जाती है। यह तीन मरीजों को दी जाती हैं। ऐसे में अगर एक ही व्यक्ति इसे खरीदता है तो इसका आधा पैसा बर्बाद हो जाता है। ऐसे में अस्पताल में रैबीज का इंजेक्शन लगाने वाले मरीजों को निःशुल्क एंटी रैबीज इंजेक्शन स्कीम का लाभ नहीं मिल पा रहा। वहीं, मेडिकल कालेज प्रबंधन के भी हाथ खड़े हो गए हैं। काफी समय से एंटी रैबीज के इंजेक्शन की पर्याप्त सप्लाई नहीं हो रही।