Tuesday, June 02, 2020 11:59 AM

रोहतांग पार कर 291 पहुंचे लाहुल

पांच माह बाद दर्रा बहाल होते ही 63 गाडि़यों से रवाना किए कुल्लू-मनाली में फंसे लोग

केलांग-पांच माह बाद वाहनों के लिए रोहतांग दर्रे के बहाल होते ही मंगलवार को कुल्लू-मनाली में फंसे लोगों की घर वापसी एक बार फिर शुरू हो गई है। मंगलवार को मनाली से रोहतांग दर्रे से होते हुए लाहुल के लिए 63 वाहनों में 291 लोगों को पहुंचाया गया। जानकारी के अनुसार मंगलवार सुबह ही कुल्लू व मनाली से लोगों को लाहुल भेजा गया। प्रशासन ने जहां सोमवार शाम को ही लाहुल भेजे जाने वाले लोगों की लिस्ट को फाइनल कर सभी आवेदनकर्ताओं को सूचित किया था, वहीं प्रशासन ने यह भी स्पष्ट किया है कि आवेदन करने वाले लोगों को ही इस दौरान लाहुल भेजा जाएगा। ऐसे में मंगलवार सुबह 291 लोगों की सेहत पहले जहां कोठी में जांची गई, वहीं यहां तैनात स्वास्थ्य विभाग की टीम से ग्रीन सिग्नल मिलने के बाद लोगों को लाहुल की तरफ भेजा गया। रोहतांग दर्रा पार कर जैसे ही ये लोग लाहुल के प्रवेश द्वार कोकसर पहुंचे, तो वहां पर भी तैनात स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इनकी सेहत की दोबारा जांच की और सब कुछ सही पा जाने पर इन्हें लाहुल में प्रवेश दिया। इसके अलावा पुलिस प्रशासन की टीम ने भी लाहुल में प्रवेश कर रहे लोगों व वाहनों का जहां पंजीकरण किया, वहीं क्रमबद्ध तरीके से लोगों को घाटी में भेजा गया। उधर, बीआरओ के अधिकारियों के हवाले से कहें तो रोहतांग दर्रे को सोमवार शाम को ही वाहनों के लिए बहाल किया गया है। करीब पांच माह बाद जहां बीआरओ के जवानों ने कड़ी मशक्कत कर रोहतांग दर्रे को बहाल किया है, वहीं लॉकडाउन के दौरान कुल्लू-मनाली में फंसे लाहुल के लोगों की घर वापसी का दूसरा चरण भी शुरू कर दिया गया है। उधर, कृषि मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय ने कहा कि कुल्लू-मनाली में फंसे लोगों की घर वापसी करवाई जा रही है। मंगलवार को वाहनों के माध्यम से लोगों को लाहुल पहुंचाया गया है।