Saturday, July 04, 2020 05:37 PM

लखदाता पीर की पूजा-अर्चना

कोरोना संकट के चलते डैहर में श्री शीतला माता मेला-महादंगल रद्द, आयोजकों ने मेला ग्राउंड में नवाया शीश

डैहर -वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के चलते जिला मंडी के डैहर का श्री शीतला माता मेला रद्द होने के बाद रविवार को महादंगल भी नहीं हो पाया। डैहर पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा विधिवत रीति के अनुसार मेले के अंतिम दिन मेला ग्राउंड में लखदाता पीर की विधिवत पूजा-अर्चना करते हुए नमन किया।  इस दौरान पंचायत ने सुख-समृद्धि व आरोग्यता प्रदान करने की प्रार्थना की। पंचायत प्रधान राजेश धीमान, उपप्रधान सरोज शर्मा सहित अन्य पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा मेला ग्राउंड में लखदाता पीर की पूजा-अर्चना करते हुए सूक्ष्म रूप से छोटे बच्चों का दंगल करवाते हुए लखदाता पीर को नमन किया गया। पंचायत प्रधान राजेश धीमान ने बताया कि कोरोना वैश्विक महामारी के चलते इस बार जिला स्तरीय श्री शीतला माता मेला और महादंगल रद्द हुआ है, जिसके बाद आज होने वाले महादंगल भी रद्द हुआ है, लेकिन हर वर्ष की भांति लखदाता पीर की विधिवत पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा पूजा-अर्चना की गई और लखदाता पीर से इस महामारी से सभी लोगों की रक्षा व सुरक्षा करने की प्रार्थना की गई।

दंगल देखने आते थे सैकड़ों दर्शक

गौरतलब रहे कि हर वर्ष तीन दिवसीय श्री शीतला माता मेले का आयोजन 22 से 24 मई तक धूमधाम से डैहर मेला ग्राउंड में किया जाता था, जिसमें 22 मई को डैहर पंचायत घर अलसू से विशाल जलेब, देवी-देवताओं व स्थानीय लोगों के साथ श्री शीतला माता के मंदिर में मुख्यातिथि व पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा विधिवत पूजा-अर्चना करने के बाद मेला ग्राउंड में रिबन काटकर मेले का आगाज किया जाता है। 22 और 23 को मेले के पहले व दूसरे दिन सांस्कृतिक संध्याओं का आयोजन  पंचायत द्वारा किया जाता था और 24 मई को विशाल महादंगल का आयोजन मेला ग्राउंड में किया जाता था, जिसमें हजारों दर्शक इस वार्षिक महादंगल में अपनी उपस्थिति दर्ज करवाते थे, लेकिन इस वर्ष कोरोना ने इन सब समारोहों व कार्यक्रमों को निगल लिया है।