लगातार दूसरे दिन झटकों से कांपा चंबा

एक दिन में चार बार हिली धरती; 5.0 तक तीव्रता, दहशत में लोग

चंबा - चंबा जिला में सोमवार दोपहर को भूकंप के एक के बाद एक कुल तीन झटके महसूस किए गए और फिर एक झटका रात 9 बजकर 27 मिनट पर आया। शिमला से मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक डा. मनमोहन सिंह ने बताया कि चंबा में जिला में भूकंप का पहला झटका बारह बजकर दस मिनट पर महसूस किया गया।  इस झटके की रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 5.0 आंकी गई। इसके बाद दूसरा झटका बारह बजकर 40 मिनट पर महसूस किया गया। भूकंप के इस झटके की तीव्रता 3.2 थी, जबकि तीसरा झटका बारह बजकर 57 मिनट पर आया। इस झटके की रिक्टर पैमाने पर तीव्रता 2.7 आंकी गई। आखिरी झटके की तीव्रता 3.2 आंकी गई। उन्होंने बताया कि इस भूकंप का केंद्र 32.9 डिग्री उत्तरी अक्षांश और 76.1 डिग्री पूर्वी देशांतर पर जम्मू एवं कश्मीर के साथ लगते चंबा की सीमा पर रहा और जमीन की सतह से पांच किलोमीटर गहराई में स्थित था। जानकारी के अनुसार सोमवार दोपहर बाद धरती को कांपता देख घरों से बाहर निकलकर अपने इष्टदेव को याद करने लगे। इसी दौरान जिला के कई जगह स्कूलों से बच्चे व स्टाफ  भी परिसर से बाहर निकल आए। पहले झटके के दौरान करीब पांच-छह सेकंड तक धरती महसूस किए गए। फिलहाल भूकंप के झटकों से जिला में किसी तरह के जान व माल के नुकसान की सूचना नही हैं, लेकिन लगातार दूसरे दिन आए भूकंप ने लोगों के दिलों में दहशत भर दी। बताते चलें कि चंबा जिला में रविवार को भी भूकंप के दो झटके महसूस किए गए थे। पिछले दो दिनों से भूकंप आने का सिलसिला जारी रहने से लोगों के मन में किसी अनहोनी की आशंका का डर बैठ गया है। हालांकि भू-गर्भ वैज्ञानिकों की मानें तो भूकंप के हल्के झटके बड़े झटकों की आशंका को काफी हद तक कम कर देते हैं।

Related Stories: