Wednesday, July 17, 2019 08:07 PM

लाहुल के पर्यटन कारोबारियों को नोटिस

केलांग -लाहुल में बिना पंजीकरण पर्यटन कारोबार कर रहे कारोबारियों पर प्रशासन ने शिकंजा कसा है। करीब एक दर्जन पर्यटन कारोबारियों को प्रशासन ने नोटिस जारी कर पर्यटन विभाग के पास तुरंत प्रभाव से पंजीकरण करवाने के आदेश जारी किए हैं। आदेश न मानने की सूरत में प्रशासन जहां इन पर्यटन कारोबारियों पर कार्रवाई करते हुए  इनका समान जब्त करेगा, वहीं इनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी अमल में लाई जाएगी। लाहुल में मनाली-लेह मार्ग बहाल होने के बाद जहां पर्यटन सीजन शुरू हुआ है, वहीं प्रशासन ने एनजीटी के आदेशों का हवाला देते हुए घाटी के एक दर्जन पर्यटन कारोबारियों को नोटिस जारी किए हैं। बिना पंजीकरण घाटी में पर्यटन कारोबार कर रहे इन कारोबारियों को प्रशासन दो टूक शब्दों में कहा है कि बिना पंजीकरण किसी को भी पर्यटन कारोबार करने नहीं दिया जाएगा। प्रशासन का कहना है कि जल्द ही लाहुल के सभी पर्यटन कारोबारियों के जहां दस्तावेज जांचे जाएंगे, वहीं एनजीटी की टीम भी लाहुल का दौरा कर सकती है। उल्लेखनीय है कि लाहुल-स्पीति में समर सीजन में पर्यटन कारोबार बड़े पैमाने पर होता है। यहां देश-विदेश के सैलानी जहां विशेष तौर पर गर्मियों में समय बिताने के लिए पहुंचते हैं, वहीं दुनिया के टॉप टेन टूरिस्ट डेस्टीनेशन में शामिल लाहुल-स्पीति में पिछले कुछ समय से पर्यटन कारोबार में भी रफ्तार आई है। घाटी में आने वाले सैलानी होटलों के अलावा कैंपिंग में भी रहते हैं। यहां कैंपिंग का कारोबार समर सीजन में अच्छा चलता है और करीब-करीब सभी कैंपिंग सैलानियों से पैक रहती है। ऐसे में प्रशासन को कुछ शिकायतें ऐसी मिली थी कि कुछ लोगों ने बिना अनुमति के ही घाटी में पर्यटन कारोबार शुरू कर दिया है। लिहाजा प्रशासन ने जब अपने स्तर पर जांच की तो करीब एक दर्जन पर्यटन कारोबारी ऐसे पाए गए जो बिना अनुमति के लाहुल में पर्यटन कारोबार कर रहे थे। प्रशासन ने इन्हें नोटिस जारी कर जल्द से जल्द संबंधित विभाग में अपना पंजीकरण करवाने के निर्देश दिए हैं। एसडीएम केलांग अमर नेगी का कहना है कि एनजीटी के आदेशों के तहत जिला में पर्यटन कारोबारियों के दस्तावेज जांचे जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि कुछ पर्यटन कारोबारी घाटी में बिना अनुमति के कारोबार कर रहे थे, जिनके खिलाफ प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए नोटिस जारी किए हैं। उन्होंने बताया कि इन पर्यटन कारोबारियों को जल्द से जल्द पंजीकरण करवाने के लिए कहा गया है। गौरतलब है कि लाहुल घाटी में जहां पर्यटकों को यहां की शांत वादियां बेहद पसंद आती है, वहीं लाहुल की संस्कृति से भी इस दौरान सैलानी रू-ब-रू होते हैं। ऐसे में लाहुल घाटी में पर्यटन कारोबार को लेकर जहां प्रशासन भी काम रहा है और यहां के लिए एक मास्टर प्लान तैयार किया गया है। ऐसे में प्रशासन का प्रयास है कि घाटी के युवाओं को पर्यटन करोबार से जोड़ा जाए।