Monday, July 13, 2020 11:10 AM

लाहुल से चार मरीज किए एयर लिफ्ट

सरकार के आग्रह पर जीएडी ने करवाई विशेष उड़ान, 37 यात्रियों को करवाया रोहतांग आर-पार

केलांग - केलांग में भारी बर्फबारी के बीच जिंदगी की जंग लड़ रहे चार गंभीर रूप से बीमार मरीजों को रविवार को एयर लिफ्ट किया गया है। घाटी में गत चार दिनों से जहां बर्फबारी का दौर चल रहा था, वहीं मौसम के साफ  होते ही केलांग अस्पताल में गंभीर रूप से बीमार मरीजों को प्रदेश सरकार ने रविवार को एयर लिफ्ट करवा कुल्लू पहुंचाया है। जानकारी के अनुसार केलांग अस्पताल में खून की कमी से जूझ रहे रणवीर सिंह की हालत दिन प्रतिदिन बिगड़ रही थी, वहीं घाटी से बाहर जाने का किसी भी तरह का रास्ता न होने के कारण परिजनों के पास हवाई मार्ग ही एक मात्र साधन था। ऐसे में रणवीर के परिजन जहां प्रदेश सरकार से लाहुल के लिए जल्द से जल्द विशेष उड़ान करवाने की मांग कर रहे थे, वहीं प्रशासन ने शनिवार को एक निजी चौपर की व्यवस्था भी रणवीर के लिए की ली थी, लेकिन खराब मौसम के कारण रणवीर को एयर लिफ्ट नहीं किया जा सका। लगातार बिगड़ रही रणवीर की हालत जहां उसके परिवार वालों के लिए परेशानी का कारण बनी हुई थी, वहीं स्थानीय विधायक एवं सरकार में मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय भी रणवीर को जल्द से जल्द उपचार के लिए जिला से बाहर पहुंचाने का प्रयास कर रहे थे। ऐसे में रविवार को मौसम के साफ होते ही प्रदेश सरकार ने जीएडी को यह फरमान जारी किए कि लाहुल में फंसे मरीजों के लिए विशेष उड़ान करवाई जाए। ऐसे में रविवार को भुंतर हवाई अड्डे से स्टींगरी के लिए हेलिकाप्टर की विशेष उड़ान करवाई गई और रणवीर के साथ तीन अन्य मरीजों को घाटी से एयर लिफ्ट किया गया। एसडीएम केलांग अमर नेगी ने बताया कि रविवार को हेलिकाप्टर की विशेष उड़ान के माध्यम से घाटी से चार मरीजों को एयर लिफ्ट किया गया है। उन्होंने बताया कि सभी मरीजों को सुरक्षित कुल्लू पहुंचाया गया है। रविवार को भुंतर हवाई अड्डे से एक ही उड़ान भरी गई, जिसके माध्यम से लाहुल से चार मरीजों को एयर लिफ्ट किया गया। प्रशासन के निर्देश पर विभाग ने त्वरित कार्रवाई करते हुए केलांग अस्पताल से मुख्य मार्ग तक सड़क से बर्फ  हटाई। सभी मरीजों को स्टींगरी हेलिपैड तक पहुंचाया गया, जहां से सभी को एयर लिफ्ट किया गया। उधर, उड़ान समिति प्रभारी अशोक कुमार का कहना है कि रविवार को भुंतर हवाई अड्डे से लाहुल के लिए एक विशेष उड़ान करवाई गई है। उन्होंने कहा कि लाहुल से चार मरीजों के अलावा 17 अन्य यात्रियों को भी भुंतर पहुंचाया गया। रविवार को कुल 37 यात्री रोहतांग के आर-पार हुए।