Tuesday, March 31, 2020 06:16 PM

लाहुल-स्पीति से नदारद कर्मचारियों पर कार्रवाई की तैयारी

केलांग -शेष विश्व से कटे लाहुल-स्पीति में भारी बर्फबारी के बाद जहां जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है, वहीं घाटी के सरकारी कार्यालयों से अधिकारी व कर्मचारी भी नदारद हैं। लिहाजा मौसम के कहर बरपाने के बाद लोगों को सरकारी कार्याें को करवाने के लिए भी दिक्कतांे का सामना करना पड़ रहा है। जिला में तैनात कर्मचारियों का एक बड़ा तबका जहां जिला से बाहर है,वहीं अधिकतर सरकारी कार्यालय लाहुल-स्पीति में खाली हैं। भारी संख्या में कर्मचारियों के जिला से बाहर होने पर स्थानीय विधायक एवं कृषि मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय ने जहां अपनी नराजगी जाहिर की है, वहीं उन्होंने सभी सरकारी कर्मचारियों को तुरंत लाहुल-स्पीति लौटने के फरमान भी जारी कर डाले हैं। यही नहीं इस संबंध में उन्होंने कर्मचारियों के इतीन भारी संख्या मंे जिला से बाहर होने पर जांच के आदेश भी दे डालें हैं। कृषि मंत्री का कहना है कि लाहुल-स्पीति में सरकारी कर्मचारियों, अधिकारियों को सरकार ने लोगों की सेवा के लिए तैनात किया है न कि सर्दियों में जिला से बाहर रहने के लिए। उन्होंने कहा कि जिला से बाहर चल रहे सभी कर्मचारियों व अधिकारियों से जहां जबाब तलब किया जाएगा,वहीं जिला से बाहर रहने की बजह भी कर्मचारियों को बतानी होगी। उन्होंने कहा कि अगर कोई भी इस दौरान बेवजह ड्यूटी से नदारद पाया गया तो उसके खिलाफ तुरंत कार्रवाई की जाएगी। उपायुक्त लाहुल-स्पीति, पुलिस अधिक्षक केलांग, पीडब्ल्यूडी व आईपीएच के आलाअधिकारियोंे समेत विभिन्न विभागों के दर्जनों सरकारी कर्मचारियों के जिला से बाहर होने के कारण लाहुल-स्पीति में प्रशासनिक व्यवस्था भी डगमगाती नजर आ रही है। सर्दियों के इस मौसम में जहां लाहुल-स्पीति के लोगों को प्रशासनिक अधिकारियों की सबसे ज्यादा जरुरत रहती है, वहीं अधिकारियों के ही जिला से बाहर होने से यहां हालात और खराब हो गए हैं। यहां बतादें कि लाहुल-स्पीति से बाहर चल रहे उक्त सभी अधिकारी-कर्मचारी छुट्टियों पर है। इनमंे से कुछ सरकारी कार्य के चलते जहां जिला से बाहर गए हैं, वहीं कुछ कर्मचारी रास्तों के बंद होने व हवाई उड़ानों मंे देरी के कारण जिला से बाहर फंसे हुए हंै। ऐसे में लाहुल-स्पीति के लोगों की दिक्कतों को ध्यान में रख जहां कृषि मंत्री ने सभी कर्मचारियों को जल्द से जल्द लाहुल में लौटने के फरमान जारी किए हैं,वहीं उन्होंने कहा कि अगर जरुरत हुई तो लाहुल-स्पीति मंे तैनात कर्मियों के लिए हेलीकाप्टर की विशेष उड़ान जनजातीय जिला के लिए करवाई जाएगी। इस बारे में डा. रामलाल मार्कंडेय स्थानीय विधायक एवं कृषि मंत्री का कहना है कि जिला से बाहर चल रहे सभी कर्मचारियों को जल्द से जल्द घाटी में लौटने के आदेश दिए गए हैं। कितने अधिकारी छुट्टियों पर हैं और कितने सरकारी कार्य के लिए जिला से बाहर भेजे गए हैं इसकी रिपोर्ट प्रशासन से मांगी गई है। बिना अनुमति के जिला से बाहर जाने कर्मियों पर कार्रवाई की जाएगी।