Monday, April 06, 2020 05:50 PM

लेफ्टिनेंट जनरल बनने वाली तीसरी महिला मेजर माधुरी कानितकर

माधुरी कानितकर ने 29 फरवरी को लेफ्टिनेंट जनरल का पद संभाला है। सशस्त्र बलों में इस रैंक पर पहुंचने वाली वह तीसरी महिला हैं। प्रोमोशन के बाद उन्हें आर्मी मुख्यालय में इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ  में तैनात किया गया है, जो चीफ ऑफ  डिफेंस स्टाफ  के तहत आता है। माधुरी इस रैंक पर पहुंचने वाली भले ही तीसरी महिला हैं, लेकिन लेफ्टिनेंट जनरल बनने वाली वह पहली बाल रोग चिकित्सक हैं। माधुरी के पति राजीव कानितकर भी लेफ्टिनेंट जनरल रह चुके हैं। माधुरी और राजीव ऐसे पहले कपल हैं, जो आर्म्ड फॉर्स में इस रैंक पर पहुंचे हैं। लेफ्टिनेंट जनरल माधुरी कानितकर पुणे में सशस्त्र बल मेडिकल कालेज की पहली महिला डीन हैं और उन्हें आर्मी मेडिकल कोर में पहला बाल चिकित्सा नेफ्रोलॉजी यूनिट स्थापित करने के लिए जाना जाता है। कानितकर ने पीडियाट्रिक और पीडियाट्रिक नेफ्रोलॉजी की पढ़ाई एम्स से की है। इसके अलावा माधुरी कानितकर, प्रधानमंत्री के वैज्ञानिक और तकनीकी सलाहकार बोर्ड की भी सदस्य हैं। पुणे के डीन के रूप में दो साल से अधिक समय पूरा करने के बाद कानितकर ने पिछले साल मेजर जनरल मेडिकल, ऊधमपुर के रूप में जिम्मेदारी संभाली थी।