Monday, April 06, 2020 06:06 PM

लॉकडाउन के बाद अब कर्फ्यू

एटीएम-मेडिकल स्टोर-किराना व सब्जी की दुकानें रहेंगी खुली, निजी वाहनों पर पूरी तरह से प्रतिबंध    

धर्मशाला-कोरोना से एक मौत और दो पाजिटिव मामले सामने आने के बाद कांगड़ा जिला के इतिहास में पहली बार अखबारों के वितरण पर पूरी तरह से वैन लग गया है। अपना कर्फ्यू पर जनता का पूरा सहयोग न मिलने के बाद अब कांगड़ा जिला को पूरी तरह से बंद करते हुए कर्फ्यू लगा दिया है। किसी की मृत्यु  पर सहयोग या आपातकाल में आने जाने के लिए लोगों को अपने अपने क्षेत्र के एसडीएम से बात कर अनुमति लेनी होगी। कर्फ्यू के दौरान एटीएम खुले रहेंगे, लेकिन बैंक पूरी तरह से बंद कर दिए हैं। मेडिकल स्टोर, किराना व सब्जी की दुकानों को कारोबारी स्वेच्छा से खोल सकते हैं। लेकिन पेट्रोल पंप पर सिर्फ एमर्जेंसी वालों को ही तेल मिलेगा। निजी वाहनों के चलने पर भी पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। राशन डिपो पर भी एक समय में अधिक लोग इकट्ठा नहीं हो पाएंगे। उन्हें दूरी बनाकर और अलग-अलग समय में राशन लेने के लिए आना होगा। कांगड़ा में मंगलवार शाम पांच बजे से पूरी तरह से कर्फ्यू जारी हो गया है। उपायुक्त राकेश प्रजापति ने अपनी मजिस्ट्रेट पावर का प्रयोग करते हुए और लोगों की जिंदगियों को बचाने के लिए बड़ा फैसला लेते हुए कर्फ्यू लगाने के आदेश पारित किए हैं। ये कर्फ्यू अनिश्चितकाल तक लागू रहेगा। इसमें खास बात ये है कि इस दौरान बाजार में जरूरी दुकानें खुली रहेंगी,  जिसमें मिल्क डेयरी, सब्जी की  दुकानें, किराना और दवाइयों की दुकाने खुली रहेंगी। इसके अलावा हर चीज पर प्रतिबंध रहेगा। दुकानों को दुकानदार अपनी स्वेछा से किसी भी समय अवधी तक खोल सकते हैं।  निजी वाहनों पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। कोई इस कर्फ्यू का उल्लंघन करेगा तो उसे कानूनी तौर पर अपराधी माना जाएगा, जिसके खिलाफ  सख्त कार्रवाई भी हो सकती है। मीडिया पर कर्फ्यू के दौरान कवरेज का कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा। कागंड़ा के लिए अच्छी बात ये है कि दो मामलों को छोड़ 19 मामलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। पुणे से आई रिपोर्ट के मुताबिक पहले से पाजिटिव केस यहां भी पाजिटिव ही पाए गए है।  मकलोडगंज के धर्मकोट में दस गैर पंजीकृत होम स्टे में लोगों को ठहराया गया था। उन्हें भी कोरनटाइन किया गया है। इसके अलावा मकलोडगंज के दो टैक्सी चालकों को भी आईसोलेट किया गया है। कर्फ्यू के दौरान मनमानी करने वालों के खिलाफ अब पुलिस का डंडा चलेगा। अपने निजी वाहन लेकर कोई भी व्यक्ति मूवमेंट नहीं कर पाएगा।