Tuesday, June 02, 2020 11:58 AM

लॉकडाउन बढ़ा, तो कम होगा सिलेबस

सरकार-शिक्षा विभाग ने शुरू की प्लान बनाने की तैयारी, बोर्ड कक्षाओं पर सबसे पहले होगा फैसला

शिमला  - हिमाचल प्रदेश की सरकारी शिक्षा पर अब सरकार जल्द ही कोई फैसला ले सकती है। राज्य में यदि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ता है, तो सरकार सभी कक्षाओं का सिलेबस कम कर सकती है। खासतौर पर दसवीं व जमा दो के छात्रों के सिलेबस में कटौती पर सरकार कोई फैसला ले सकती है। राज्य में कोरोना की इस स्थिति को देखते हुए अब सरकार व शिक्षा विभाग की चिंताएं बढ़ गई हैं। राज्य में आगामी दिनों में कैसी हालत होगी, इस पर सरकार को भी कुछ समझ नहीं आ रहा है। ऐसे में शिक्षा अधिकारी भी स्कूलों में पढ़ाई व्यवस्था पर क्या प्लानिंग बनाएं, इस पर वह कुछ भी तय नहीं कर पा रहे हैं। यही वजह है कि सरकार व शिक्षा विभाग के अंदरखाते में यह चर्चा चल रही है कि अगर लॉकडाउन बढ़ जाता है, तो सिलेबस कम करने के अलावा ओर कोई रास्ता नहीं है। फिलहाल इस पर अभी अंतिम रूप से कोई हरी झंडी नहीं दी जा रही है। सूत्रों की मानें तो सरकार ने शिक्षा विभाग को जरूर इस बाबत आदेश दिए हैं। वहीं, इतने कम समय में कैसे छात्रों का सिलेबस पूरा करवाना है। परीक्षाएं कैसे आयोजित होनी हैं, परीक्षाओं में मार्किंग कैसे की जा सकेगी, इस पर भी पूरा ब्यौरा मांगा गया है। फिलहाल सरकार सिलेबस 50 प्रतिशत कम करने पर विचार कर रही है। हालांकि विभाग द्वारा बनाए गए एग्जिट प्लान में अभी सिलेबस कम करने की कोई नहीं योजना है, लेकिन मौजूदा स्थिति को देखते हुए सरकार यह योजना बना सकती है। इसके साथ ही स्कूल खुलने पर सरकार स्कूलों की समय अवधि बढ़ाने पर भी विचार कर रही है।

पांच बजे तक हो सकता है स्कूल टाइम

इस मामले पर शिक्षा मंत्री पहले ही स्थिति स्पष्ट कर चुके है। उन्होंने कहा है कि यदि प्रदेश में लॉकडाउन बढ़ता है, तो आने वाले समय में स्कूलों का समय बढ़ाया जा सकता है। इसके तहत स्कूलों का समय सुबह नौ बजे से सायं पांच बजे तक किया जा सकता है। इसके अलावा सरकार स्कूलों में महीने के दूसरे शनिवार की छुट्टी भी बंद कर सकती है। स्कूल खुलते ही शिक्षा विभाग केवल विद्यार्थियों की पढ़ाई पर ही फोकस करेगा, ताकि प्रभावित हुए शैक्षिक दिवस की भरपाई की जा सके। फिलहाल सरकारी व निजी स्कूल दोनों ही बंद होने की वजह से घर बैठे केवल ऑनलाइन स्टडी पर ही छात्र निर्भर है।

न खेलें, न मनाया जाएगा बैग-फ्र ी डे

अब प्रदेश सरकार स्कूलों में होने वाली खेल प्रतियोगिता पर भी पांबदी लगा सकती है। आने वाले दिनों में स्कूलों में किसी भी तरह की खेलकूद प्रतियोगिताएं नहीं करवाई जाएंगी। जोन, जिला व राज्यस्तर पर इस दौरान कोई भी खेलकूद व सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं नहीं होंगी। इसके साथ ही सप्ताह में एक दिन जो बैग फ्री डे मनाया जाता है, उसे बंद कर उस दिन पढ़ाई करवाई जाएगी।