Tuesday, November 19, 2019 03:05 AM

वर्ल्ड ग्रैपलिंग स्पर्धा में दम दिखाएगी हिमाचली बेटी

जवाली   - कजाखस्तान के नुर-सुल्तान में 21 से 23 सितंबर तक होने जा रही विश्व ग्रैपलिंग चैंपियनशिप में हिमाचल की इकलौती ग्रैपलर प्रियंका ने 11 सदस्यीय टीम में जगह बनाई है। प्रियंका कांगड़ा की ज्वाली तहसील के अंतर्गत भनेई गांव की रहने वाली हैं। वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए 53 किग्रा भार वर्ग में प्रियंका भारत की तरफ से अपने प्रतिद्वंदियों से टक्कर लेगी। हिमाचल प्रदेश ग्रैपलिंग संघ के महासचिव अमित कुमार चौधरी ने बताया कि विश्व प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए भारत की राष्ट्रीय टीम में 11 खिलाडि़यों के दल के साथ शुक्रवार को दिल्ली से कजाखस्तान के लिए उड़ान भरी है, जिसकी भारत वापसी 25 सितंबर को होगी। प्रियंका पिछले तीन सालों से बजरंग अखाड़ा ज्वाली में ग्रैपलिंग का कड़ा अभ्यास कर रही है। ये पहला मौका है, जहां यूनाइटेड वर्ल्ड रेस्लिंग व वर्ल्ड ग्रैपलिंग कमेटी द्वारा ओलंपिक स्टाइल्स कुश्ती की वर्ल्ड चैंपियनशिप के साथ वर्ल्ड ग्रेपलिंग चैंपियनशिप की मेजबानी की जा रही है। प्रियंका का अब तक का प्रदर्शन काफी संतोषजनक रहा है। प्रियंका ने ग्रैपलिंग में वर्ष 2018 राष्ट्रीय प्रतियोगिता में एक रजत पदक, इंडियन ओपन 2018 अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता 2018 में 1-1 स्वर्ण पदक, राष्ट्रीय ग्रैपलिंग प्रतियोगिता 2019 में एक स्वर्ण व एक रजत पदक, भूटान में आयोजित साउथ एशियाई ग्रैपलिंग चैंपियनशिप 2019 में दो स्वर्ण पदक हासिल कर अपना वर्चस्व कायम किया हुआ है। प्रियंका के विश्व ग्रैपलिंग चैंपियनशिप में भाग लेने पर हिमाचल प्रदेश ग्रैपलिंग संघ के अध्यक्ष मलकीयत सिंह, जिला कांगड़ा ग्रैपलिंग संघ के सचिव नरिंद्र सिंह, उपाध्यक्ष बलबीर ठाकुर, कोषाध्यक्ष राजिंद्र सिंह, बजरंग अखाड़ा ज्वाली के कोच हरबंस सिंह, मदन लाल, ग्रैपलिंग राष्ट्रीय कोच अविनाश कुमार, अर्जुन कुमार, अभिलाष ठाकुर,  राष्ट्रीय रेफरी शबनम, रानी, प्रियंका के माता-पिता व क्षेत्रवासियों ने शुभकामनाएं दीं।