Thursday, October 17, 2019 12:38 AM

वल्लभ कालेज में आयोजित कार्यक्रम के दौरान स्पर्धाओं का भी चला दौर

हिंदी दिवस पर पुस्तकों का विमोचन

मंडी-वल्लभ राजकीय महाविद्यालय मंडी में हिंदी दिवस आयोजित किया गया। इस मौके पर साहित्य जगत की चर्चित हस्ती आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी के शिष्य व नागार्जुन के साथ कार्य कर चुके प्रो. दिनेन धर्मपाल कपूर की दो पुस्तकों संवाद यात्रा और आखर का विमोचन भी किया गया। प्रो. धर्मपाल कपूर ने संवाद यात्रा को प्रति पत्रकारिता व जनसंचार विभाग के विभागाध्यक्ष डा. चमन लाल को प्रदान की व आखर पुस्तक की प्रति हिंदी विभागाध्यक्ष डा. दायक राम को भेंट की। हिंदी दिवस पर आयोजित कार्यक्रमों की अध्यक्षता महाविद्यालय के प्राचार्य डा. राकेश शर्मा ने की। उन्होंने कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य व वाणिज्य में हिंदी का प्रचार प्रसार हो रहा है। कार्यक्रम में मंडी महाविद्यालय के पूर्व विभागाध्यक्ष व  शिक्षण संस्थान नेरचौक के पूर्व प्राचार्य व लेखक दिनेश धर्मपाल कपूर बतौर मुख्यातिथि शामिल हुए। उन्होंने कहा कि हिंदी भाषा साहित्य में कबीर, मलिक मोहम्मद व अमीर खुसरो के योगदान को सर्वोपरि व महत्त्वपूर्ण माना जाता है। साहित्य लोगों के हित, समन्वय, सहयोग व सकारात्मकता को बढ़ावा देता है। उन्होंने कहा कि दुनिया में लगभग 84 करोड़ लोग हिंदी बोलते हैं और 100 करोड़ हिंदी को व्यवहार में लाते हैं। संस्कृत विभाग से सेवानिवृत्त प्रो. श्रेष्ठा कश्यप ने इस मौके पर संस्कृत भाषा पर भी विस्तृत चर्चा की। हिंदी दिवस पर कालेज में विभिन्न प्रतियोगिताएं भी आयोजित करवाई गइर्ं। इसमें काव्य पाठ व श्लोक में  सरिता प्रथम, नारकली दूसरे, रितिका तीसरे स्थान पर रही। समूहगान में रितिका शर्मा समूह पहले, वीणा समूह दूसरे व स ुसुनील समूह तीसरे स्थान पर रहा। भाषण स्पर्धा में मनीष पहले, जमना दूसरे, इंद्रजीत तीसरे, चित्र लेखन में संजीव पहले, रीतिका दूसरे, द्रोपदी तीसरे स्थान पर रही।