वसीम अकरम बोले- वीरेंद्र सहवाग नहीं, इस बल्लेबाज ने बदला टेस्ट में ओपनिंग का स्टाइल

पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने कहा है कि टेस्ट क्रिकेट में ओपनिंग को बदलने वाले बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग नहीं बल्कि शाहिद आफरीदी थे. वसीम अकरम ने यूट्यूब चैनल पर आफरीदी से बात करते हुए कहा, 'टेस्ट क्रिकेट में वीरेंद्र सहवाग बाद में आए, लेकिन 1999-2000 में शाहिद आफरीदी ने ओपनिंग बल्लेबाजी के माइंड सेट को बदल दिया था.'

क्यों खास थे आफरीदी?

वसीम अकरम ने कहा, 'अगर मैं शाहिद आफरीदी के सामने होता तो मुझे पता होता कि मैं उन्हें आउट कर लूंगा, लेकिन मुझे यह भी पता होता कि मुझे बाउंड्रीज पड़ेंगी. शाहिद आफरीदी कमजोर गेंदों को छक्के के लिए मारते थे. अकरम ने बताया कि शाहिद आफरीदी 1999-2000 में भारत का दौरा करने वाली पाकिस्तान टीम का हिस्सा नहीं होने वाले थे.'

आफरीदी को भारत दौरे पर ले गए अकरम

अकरम ने बताया, 'मैंने इमरान खान को फोन किया और कहा कि कप्तान मैं आफरीदी को भारत के दौरे पर ले जाना चाहता हूं, लेकिन कुछ चयनकर्ता इसके लिए राजी नहीं हैं.' इमरान खान ने मुझसे कहा कि तुम्हें इसे पक्के तौर पर ले जाना चाहिए वो एक-दो टेस्ट मैच जिता देगा और उससे ओपनिंग कराना.

इमरान खान ने आफरीदी से ओपनिंग कराने की सलाह दी

इमरान खान ने अकरम को कहा कि तुम्हें उसे जरूर ले जाना चाहिए और उनसे ओपनिंग कराई जानी चाहिए. मैं अक्सर इमरान से चर्चा करता था और उनकी सलाह काफी उपयोगी होती थी. इसके बाद विस्फोटक बल्लेबाजी में माहिर शाहिद आफरीदी को भारत दौरे पर खेलने का मौका मिला.

शाहिद आफरीदी ने किया कमाल

इसके बाद मौके को भुनाते हुए शाहिद आफरीदी ने चेन्नई में खेले गए पहले टेस्ट मैच में 141 रनों की पारी खेलकर टेस्ट करियर का पहला शतक जड़ दिया. अकरम ने आफरीदी की उस पारी को याद करते हुए कहा कि आफरीदी ने आगे बढ़कर अनिल कुंबले और सुनील जोशी की गेंदों पर बेहतरीन छक्के लगाए थे. पाकिस्तान ने वो सीरीज 2-1 से जीती थी.

Related Stories: