Monday, September 16, 2019 08:05 AM

वाह! घुटनों तक पानी…फिर भी खड़े किए खंभे

विद्युत अनुभाग नंदरूल में बोर्ड के अतिरिक्त सहायक अभियंता ने कर्मचारियों संग बहाल की बिजली

कांगड़ा -विद्युत अनुभाग नंदरूल के अंतर्गत गांव खैरकड़ चरांद, घुमारकड़, भारथा, सिंवलू, भटलाडू, खरठ, राजल, झुरड़ू, वोहडक्वालू, कल्लरी, सिरमणी,  मलाड़ू, वलेढ़ और मरहूं में बरसात ने खूब तबाही मचाई है।  बिजली बोर्ड के अतिरिक्त सहायक अभियंता इंजीनियर चंद्रभूषण मिश्रा ने  कर्मचारियों संग खेतों के बीच घुटनों तक पहुंचे पानी के बीच नीचे गिरे, टेढ़े  व विभिन्न जगहों पर टूट कर गिरे पोलों  और उखड़ी स्टे सेट व स्टे वायरज को आनन-फानन में  दोबारा गड्ढे करके खड़े करने,  टूटे व डैमेज कंडक्टर के स्थान पर नया कंडक्टर जोड़ कर बिछाने व नए आयरन और शैकल इंसूलेटरों को फिक्स किया। तत्पश्चात वेयर कंडक्टर का प्रोपर सैग लेकर शेष तीन घरों और दो दुकानों के विद्युत उपभोक्ताओं के लिए बाधित हुई विद्युत आपूर्ति को सोमवार दोपहर साढ़े 12 बजे तक शीघ्रा बहाल कर दिया गया है।  दूसरी तरफ इलाके में 50 जगहों पर विद्युत उपभोक्ताओं की सर्विस वायर शार्ट होने कहीं न्यूट्रल ब्रेक होने तो कहीं लाइटनिंग अरेस्टर के खराब होने  से जम्पर के चैनल पर बैठकर पड़े अर्थ फाल्ट ने ट्रेस आउट करवाने में पसीने निकलवाए। ऐसे में फील्ड तकनीकी कर्मचारियों की भारी कमी महसूस की गई। ड्यूटी पर तैनात मात्र तीन कर्मचारियों ने 54.540 किलोमीटर की एलटी और 32.290 किलोमीटर एचटी लाइन में दोपहिया वाहनों में दौड़ धूप करके खराब मौसम में भी विद्युत उपभोक्ताओं की बिजली संबंधी शिकायतों को दूर किया।