Thursday, November 14, 2019 02:20 PM

व्यवसायी को एक साल का कारावास

कंपनी से खरीदे कृषि बीज के बिल का भुगतान न करने पर कोर्ट ने सुनाई सजा

सुंदरनगर - तकरीबन सात वर्ष पूर्व कृषि वस्तुओं का भुगतान न करने के मामले में एक पूर्व व्यवसायी को अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी सुंदरनगर हकीकत धाडा की अदालत ने दोषी करार देते हुए एक साल की सजा व चार लाख 20 हजार रुपए जुर्माना अदा करने का फैसला सुनाया है। यह जानकारी अधिवक्ता वीरेंद्र ठाकुर व सुचित्रा ठाकुर गुलेरिया ने दी। उन्होंने बताया कि जिला बिलासपुर के पडयाल निवासी डा. रविंद्र क्रॉप सॉल्यूशन के नाम से  दधौल में बीज, खाद व दवाइयों का कारोबार करता था, उसने सुंदरनगर के बीबीएमबी कॉलोनी की फर्म केडी सीड हाउस से कृषि वस्तुएं खरीदी थीं, जिसके भुगतान के लिए डा. रविंद्र ने चेक दिए, लेकिन खाते में पर्याप्त बैलेंस न रखते हुए, इसे बाउंस करवा दिया। बार-बार केडी सीड हाउस प्रबंधन की मांग पर जब दुकानदार ने भुगतान न किया, तो सुंदरनगर कोर्ट में एनआई एक्ट 1881 की धारा 138 के तहत मुकदमा दर्ज करवाया, जिसकी सुनवाई करते हुए कोर्ट नंबर एक हकीकत धाडा की अदालत ने डा. रविंद्र को दोषी पाया और एक साल की सजा और चार लाख बीस हजार जुर्माने की सजा सुनाई।