Wednesday, July 17, 2019 08:06 AM

शनिवार को खोल दी जाएगी रोहतांग टनल

 शिमला -हिमाचल प्रदेश के जनजातीय क्षेत्र लाहुल-स्पीति में चुनाव की प्रक्रिया निपटाने के लिए रोहतांग सुरंग के द्वार 20 अप्रैल को खुल जाएंगे। रोहतांग टनल को खोलने के लिए चुनाव आयोग ने अल्टीमेटम दिया है, जिस पर बीआरओ ने चुनाव विभाग को आश्वस्त किया है कि इस दिन यहां पर आवागमन शुरू कर दिया जाएगा, क्योंकि चुनाव की प्रक्रिया को पूरा करना है, लिहाजा वहां पर युद्धस्तर पर काम चल रहा है। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी देवेश कुमार ने बताया कि रोहतांग सुरंग को लेकर उन्होंने बीआरओ से बात की है। यहां 600 मीटर की एक नदी से पानी बह रहा है, जिसका रुख मोड़ने के लिए काम चल रहा है। वहीं लोक निर्माण विभाग आगे मार्ग खोलने में जुटा है। देवेश कुमार ने कहा कि चुनाव आयोग की प्राथमिकता लाहुल में चुनाव की सामग्री व कर्मचारियों को पहुंचाना है, जिसके बाद वोटरों के लिए यहां के रास्ते खोले जाने हैं, ताकि चुनाव की प्रक्रिया सही तरह से पूरी हो सके। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार से हेलिकाप्टर की भी डिमांड की गई है, ताकि जनजातीय क्षेत्रों में जरूरत के अनुसार पोलिंग पार्टियों को समय पर पहुंचाया व लाया जा सके। इसके साथ वहां पर ईवीएम व वीवीपैट के साथ दूसरी सामग्री को रोहतांग के जरिए भेजा जाएगा। आयोग ने सरकार से सात मई से हेलिकाप्टर की डिमांड की है, जोकि चुनाव प्रक्रिया पूरी होने तक उनके पास ही रहेगा। चुनाव आयोग ने इसे मंजूरी दे दी है। लाहुल को 20 अप्रैल के बाद केंद्रीय सुरक्षा बलों की टीमें भेजी जाएंगी, जो समय पर वहां पहुंचकर मोर्चा संभालेंगी। उधर, राजनीतिक दलों ने प्रदेश में सरकारी रेस्ट हाउस व गेस्ट हाउस की डिमांड की है। नियम है कि केवल जेड सिक्योरिटी प्राप्त नेताओं को ही चुनाव के दौरान सरकारी रेस्ट हाउस व गेस्ट हाउस में ठहरने की अनुमति दी जा सकती है, मगर प्रदेश की भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए राजनीतिक दलों ने चुनाव आयोग से आग्रह किया है कि यहां सभी नेताओं के लिए प्रावधान कर दिया जाए। अभी इस मामले को राज्य चुनाव विभाग ने आयोग को भेजा है, परंतु वहां से इस पर कोई निर्देश नहीं मिले हैं। गौर हो कि हिमाचल में प्रत्याशियों का नामांकन 22 अप्रैल से शुरू हो जाएगा। इसके साथ ही प्रत्याशियों के साथ चलने वाले वाहनों, उनके द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली चुनावी सामग्री आदि का खर्चा उनके खाते में डलना शुरू हो जाएगा। नामांकन के दिन से ही यह खर्च डलना शुरू हो जाएगा।