Sunday, July 05, 2020 06:03 AM

शिक्षा मंत्री के बयान का विरोध

निजी स्कूल एसोसिएशन ने जताया रोष; बोले, बर्दाश्त नहीं करेंगे 

चंबा -निजी स्कूल एसोसिएशन चंबा ने शिक्षा मंत्री द्वारा जेल भेजने की दी गई धमकी का कड़ा विरोध किया है। इस संदर्भ में रविवार को जिला चंबा के निजी स्कूल एसोसिएशन की ऑनलाइन बैठक आयोजित की गई। इस दौरान संस्था के अध्यक्ष सुरेंद्र शर्मा, मुख्य सलाहकार संजीव सूरी, युनुस मलिक, राकेश ठाकुर, दीपाली शर्मा, द्गवीण शर्मा, अनिल शर्मा, भूपिंद्र ठाकुर, विमादित्य महाजन, विशाल स्त्रवाला, रिशव पठानियां, दिनेश शर्मा, नवदीप भंडार व  सुभाष साहिल सहित अन्य पदाधिकारियों ने रोष प्रकट किया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में समूचा विश्व कोरोना रूपी महामारी से जूझ रहा है और प्रदेश एवं केंद्र सरकार की सहायता के लिए निजी स्कूल बढ़-चढ़ कर सहयोग भी कर रहे हैं। इसके साथ ही शिक्षक दिन-रात एक कर विद्यार्थियों को शिक्षित करने में जुटे हैं, ताकि उनकी पढ़ाई प्रभावित न हो, लेकिन इसी बीच प्रदेश के मंत्री निजी स्कूल संचालकों को जेल भेजने के बयान दे रहे हैं, जोकि सही नहीं है। उन्होंने कहा कि निजी संस्थानों को सरकार की ओर से कोई भी आर्थिक सहायता नहीं की जाती है। वर्तमान में सभी निजी स्कूल महामारी के कारण प्रभावित हुए परिवारों के बच्चों को भी शिक्षित कर रहे हैं और उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं। विद्या मंदिरों का संचालन करने के बावजूद उन्हें ऐसे बयान सुनने को मिल रहे है, जिन्हें अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अगर सरकार शिक्षा व्यवस्था को सही बनाना चाहती है तो निजी स्कूलों को प्रताडि़त करना बंद करे। उन्होंने कहा कि सभी निजी स्कूल संचालकों से अब उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाने का मन बना लिया है।