Monday, April 06, 2020 06:08 PM

शिलाई से चंडीगढ़ को चलाई जाए सीधी बस सेवा

लोगों ने एचआरटीसी से लगाई राहत की गुहार, पीजीआई में इलाज करवा रहे मराजों को नहीं मिल रही सीधी बस सुविधा

पांवटा साहिब -शिलाई क्षेत्र एक दुर्गम पहाड़ी क्षेत्र है तथा यहां पर बीमारी के समय लोगों को चंडीगढ़ के लिए परिवहन निगम की सीधी बस सेवा की बड़ी जरूरत है। क्षेत्र के अस्पताल से रैफर केस व पीजीआई से इलाज करवा रहे क्षेत्र के सैकड़ों लोग सीधी बस सेवा न होने के कारण दिक्कतें झेल रहे हैं। यह बात शिलाई क्षेत्र के पंचायत शिलाई के पूर्व प्रधान जगत सिंह तोमर, दुगाना पंचायत के पूर्व प्रधान संतराम पुंडीर, हाटी किसान समिति के अध्यक्ष कुंदन सिंह शास्त्री, समाजसेवी सोभाराम चौहान और कफोटा व्यापार मंडल के पूर्व प्रधान हृदय राम पुंडीर आदि ने कही। इन्होंने बताया कि शिलाई विस क्षेत्र एक पहाड़ी दुर्गम इलाका है। इस क्षेत्र में गिनती की नाममात्र आधा दर्जन निगम की बसें चलती हैं। वे भी लोकल रूट पर ही चलती हैं। क्षेत्र के सैकड़ों लोग रोजाना इलाज व अन्य कार्यों के लिए चंडीगढ़ जाते है। इस दौरान उन्हंे पहले पांवटा साहिब पहुंचना पड़ता है तथा फिर यहां से दूसरी बस बदलकर आगे का सफर तय करना पड़ता है। इसके अतिरिक्त शिलाई क्षेत्र से सैकड़ों की तादाद में युवा शिक्षा व अन्य कार्यों के लिए चंडीगढ़ जाते रहते हैं। ज्यादातर बसों में सीट न मिलने के कारण खड़े-खड़े ही सफर करना पड़ता है जिस कारण लोग परेशान होते हैं। इनका कहना है कि जिस गति से हिमाचल विकास कर रहा है तथा हर जिले के कई क्षेत्रों से लंबे रूट की निगम द्वारा बसें चलाई जा रही हैं उसे देखते हुए शिलाई क्षेत्र के साथ सौतेला व्यवहार हो रहा है। इन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर से गुहार लगाई है कि शिलाई से चंडीगढ़ के लिए निगम की सीधी बस सेवा लगाई जाए। इन्होंने यह भी कहा है कि यह बस सेवा चंडीगढ़ के सेक्टर-17 के लिए लगाई जाए ताकि विशेषकर पीजीआई जाने वाले मरीजों उनके परिजनों व रिश्तेदारों को लाभ मिल सके। उधर, इस बारे हिमाचल पथ परिवहन निगम के सिरमौर के आरएम रशीद मोहम्मद शेख ने कहा कि क्षेत्रवासियों की मांग को देखते हुए इस मांग को पूरा करने के लिए प्राथमिकता के तौर पर निगम के उच्च अधिकारियों को भेजी गई है। उम्मीद है इस पर उच्च स्तर पर विचार किया जाएगा।