Tuesday, November 19, 2019 03:06 AM

शोभायात्रा के साथ रेणुकाजी मेले का आगाज

विधानसभा अध्यक्ष राजीव बिंदल ने भगवान परशुराम की पालकी को कंधा देकर यात्रा की अगवाई की, पारंपरिक लोक धुनों से माहौल हुआ भक्तिमय

रेणुकाजी नाहन - विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल ने गुरुवार को सिरमौर जिला के रेणुकाजी में भगवान परशुराम की पालकी की पूजा-अर्चना करने के उपरांत छह दिवसीय अंतरराष्ट्रीय श्रीरेणुकाजी मेले का शुभारंभ किया। इसके उपरांत वह भगवान परशुराम की शोभायात्रा में शामिल हुए और पालकी को कंधा देकर शोभा यात्रा की अगवाई की।  हालांकि हर वर्ष देव पालकियांे को पूजा-अर्चना के बाद प्रदेश के मुख्यमंत्री ही कंधा लगाकर रेणुका तीर्थ के लिए रवाना करते थे। विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल यह कहते जरूर नजर आए कि वह प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के रूप में यहां आए हैं, क्योंकि मुख्यमंत्री इन्वेस्टर मीट धर्मशाला में प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में व्यस्त हैं। यह मेला दशमी की पूर्व संध्या पर भगवान परशुराम का उनकी माता रेणुका जी से वार्षिक मिलन का अनूठा संगम है। परंपरा के अनुसार भगवान परशुराम की पालकी को जामूकोटी गांव से प्राचीन मंदिर से रेणुका लाया जाता है और उसके उपरांत धार्मिक अनुष्ठानों जिसमें झील में पवित्र स्नान भी शामिल है। इस मेले में देश भर के लाखों श्रद्धालु भाग लेते हैं तथा पवित्र झील में स्नान भी करते हैं। डा. बिंदल ने इस अवसर पर कहा कि हिमाचल प्रदेश अपनी समृद्ध परंपराओं व संस्कृति के लिए जाना जाता है। उन्होंने कहा कि मेले हमारी संस्कृति परंपराओं को अगली पीढ़ी तक पहुंचाने में अहम भूमिका निभाते हैं। सभी श्रद्धालु रंग-बिरंगे परिधानों में पारंपरिक लोक धुनों पर नाचते गाते हुए इसमें शामिल होते हैं, जिससे इस मेले का पूरा माहौल आध्यात्मिक और आनंदमयी बन जाता है। इस शुभारंभ समारोह में उपायुक्त एवं अध्यक्ष रेणुकाजी विकास बोर्ड सिरमौर डा. आरके परूथी, पुलिस अधीक्षक सिरमौर अजय कृष्ण शर्मा, अतिरिक्त उपायुक्त प्रियंका वर्मा, एसडीएम एवं सदस्य सचिव रेणुका विकास बोर्ड विवेक शर्मा, जिला भाजपा अध्यक्ष विनय गुप्ता, एपीएमसी अध्यक्ष रामेश्वर शर्मा, भाजपा मंडलाध्यक्ष रेणुका सुनील शर्मा, भाजपा मंडलाध्यक्ष नाहन प्रताप ठाकुर, मुख्य कार्यकारी अधिकारी दीप राम  के अतिरिक्त विभिन्न विभागों के अधिकारी तथा रेणुका विकास बोर्ड के गैर सरकारी सदस्य भी उपस्थित थे।