Tuesday, March 31, 2020 12:14 PM

श्री साई अस्पताल में कोरोना से निपटने को टीम का गठन

आईसोलेशन वार्ड सहित सभी इंतजाम पूरे, लोगों को घरों में रहने की दी जा रही हिदायत

नाहन-श्री साई अस्पताल नाहन द्वारा कोरोना वायरस से निपटने के लिए तमाम सुविधाएं उपलब्ध की जा रही है। जिसके लिए अस्पताल प्रबंधन ने एक पूरी टीम का गठन किया गया है, आपातकाल यदि कोई ऐसा व्यक्ति आता है जिसमें संक्रमन होने के लक्षण हो सकते है ऐसे रोगी के लिए अस्पताल में आईसोलेशन के लिए पूरा वार्ड तैयार किया गया है साथ ही स्टाफ  व अन्य रोगियों की सुरक्षा का पूरा प्रबंध किया गया है। जानकारी देते हुए अस्पताल के निदेशक डा. दिनेश बेदी ने बताया कि अस्पताल में स्टाफ  व अन्य रोगियों की सुरक्षा के लिए सभी लोगों की स्क्त्रीनिग की जा रही है, साथ ही अस्पताल के दरवाजों, हैंडल, रेलिंग सहित हर फर्नीचर को सनेटाइज किया जा रहा है। अस्पताल में प्रवेश करने वाले प्रत्येक व्यक्ति की 14 दिनों की जानकारी भी ली जा रही है। उन्होने बताया कि कोरोना वायरस से घबराने की जरूरत नहीं है बस एतिहात व सुरक्षा बनाए रखें। कोरोना से बचाव ही एकमात्र इलाज है। किसी भी व्यक्ति से करीब एक मीटर की दूरी बनाए। घर में प्रवेश करने के बाद कपड़ों को तुरंत मशीन में डाले, नहाने के बाद ही अन्य लोगों से संपर्क बनाएं। मास्क पहने व बार बार हाथ धोने की आदत बनाए। कोरोना से लड़ाई संभव है। लोगों को सामाजिक दूरी बनाए रखना जरूरी है। इसके अलावा अन्य रोगियों को लेकर अस्पताल में इलाज जारी है।

बच्चों व तिमारदारों को अस्पताल में प्रवेश वर्जित

उन्होने बताया कि कुछ ऐसे लोग है जो अपने साथ बच्चों लेकर आ रहें है। ये गलत है अस्पताल के अंदर रोगी के साथ आए बच्चों व एक से अधिक व्यक्तियों को प्रवेश नही करने दिया जा रहा है।  उन्होने लोगों से अपील की है कि अस्पताल से बुजूर्ग व बच्चों को दूर ही रखें। रोगी के साथ एक ही व्यक्ति को प्रवेश वर्जित किया गया है।

अस्पताल व पुलिस कर्मियों के जज्बे को सलाम

इस दौरान डा. दिनेश बेदी ने अपने स्टाफ व सिरमौर के सभी अस्पतालों में कार्य कर रहें सभी स्टाफ की सराहना करते हुए कहा कि इस विकट घड़ी में डाक्टर, नर्स, सफाई कर्मचारी,पुलिस कर्मचारी लोगों की सेवा में दिन रात लगे है। लोगों को समझना चाहिए कि उन्हे सरकारी फैसलों पर अमल करें व ऐसे लोगों के जज्बे को सलाम करें। जो अपने जीवन को खतरे में डाल कर अपना कर्म को धर्म समझ कर लोगों की सेवा कर रहें है।