Thursday, June 20, 2019 02:47 PM

संदेह से परे होना चाहिए जनादेश

नई दिल्ली । ईवीएम में छेड़छाड़ की आशंका और आरोपों से भरे इस माहौल के बीच अब पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने मतदाताओं के फैसले से कथित छेड़छाड़ की रिपोर्टों पर चिंता जताई है। एक बयान जारी कर उन्होंने कहा कि ईवीएम, जो चुनाव आयोग की कस्टडी में हैं, उनकी रक्षा और सुरक्षा आयोग की जिम्मेदारी है। प्रणब मुखर्जी ने आगे कहा कि ऐसी अटकलबाजियों के लिए कोई स्थान नहीं हो सकता, जो हमारे लोकतंत्र के मूल आधार को चुनौती देते हैं। उन्होंने कहा कि जनादेश पवित्र है और इसे हर प्रकार के संदेह से परे होना चाहिए। पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि अपने संस्थानों पर दृढ़ विश्वास के साथ यह मेरी राय है कि काम करने वाले लोग ही हैं, जो फैसला करते हैं कि संस्थागत टूल्स कैसे परफॉर्म करे। उन्होंने साफ कहा कि इस मामले में संस्थागत अखंडता को सुनिश्चित करने का दायित्व भारतीय निर्वाचन आयोग पर है। उनके लिए ऐसा करना और सभी आशंकाओं को खत्म करना जरूरी है।