Tuesday, September 17, 2019 04:50 PM

संशोधित वरिष्ठता सूची बहाल करे सरकार

पूर्व सैनिकों को सिविल सेवा में नियुक्ति की तिथि से सीनियोरिटी देने की मांग

हमीरपुर -हिमाचल प्रदेश टीजीटी परिसंघ ने प्रदेश के मुख्यमंत्री व शिक्षामंत्री से माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों अनुसार भूतपूर्व सैनिकों की वरिष्ठता उनकी सिविल सेवा में नियुक्ति से देने तथा संशोधित वरिष्ठता सूची को बहाल करने की मांग की है, ताकि सभी गैर पूर्व सैनिक कर्मचारियों में पनपे विरोध को शांत किया जा सके। हिमाचल प्रदेश टीजीटी परिसंघ की बैठक प्रदेश संयोजक विजय गौत्तम की अध्यक्षता में राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बाल, हमीरपुर में आयोजित की गई। गौरतलब है कि संघ के विभिन्न पदाधिकारियों ने 129 भूतपूर्व सैनिकों की संशोधित वरिष्ठता सूची, जोकि 27 जुलाई 2018 को जारी की गई थी, जिसमें सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार इन्हें सिविल सेवा में नियुक्ति की तिथि से वरिष्ठता प्रदान करने के आदेश दिए हैं कि अनुपालना करते हुए निर्देशक प्रारंभिक शिक्षा द्वारा नई संशोधित वरिष्ठता सूची को सरकार ने 25 फरवरी, 2019 को निरस्त करते हुए न्यायालय के आदेशों की अवमानना करते हुए नौ अगस्त, 2019 को इन पूर्व सैनिकों की पुरानी वरीयता बहाल करते हुए वित्तिय लाभ भी प्रदान कर दिए हैं। संघ के नेताओं ने संयुक्त बयान जारी करते हुए सरकार के इस तानाशाही रवैए का विरोध करने का फैसला किया है।  वहीं सरकार इन भूतपूर्व सैनिकों को करोड़ों रुपए सौगात के रूप में दे रही है। प्रदेश में शिक्षकों के हजारों पद रिक्त चल रहे हैं। बैठक में प्रदेश पदोन्नत प्राध्यापक संघ के प्रदेशाध्यक्ष रत्नेश्वर सलारिया, महासचिव यशवीर जंबाल, विज्ञान अध्यापक संघ के प्रदेशाध्यक्ष अजय शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष मोहन लाल शर्मा, टीजीटी कला संघ के प्रदेशाध्यक्ष सुरेश कौशल, महासचिव ओम प्रकाश के अतिरिक्त मंडी अध्यक्ष प्रवीण गुलेरिया, अध्यक्ष रजनीश रांगड़ा, विज्ञान अध्यापक कार्यकारी अध्यक्ष मनोज परिहार, जिला कांगड़ा के प्रधान प्रदीप धीमान, मंडी के प्रधान कमल किशोर शर्मा, महासचिव प्रवीण गुलेरिया, हमीरपुर के महासचिव रविदास, वरिष्ठ उपप्रधान संदीप ढटवाल, हिमाचल शिक्षक महासंघ के जिला हमीरपुर के प्रधान नरेश शर्मा, प्राथमिक शिक्षक संघ के नरेश शर्मा, अशोक पठानिया तथा दिले मोहम्मद, कमलेश कुमार, रणदीप गुलेरिया, रविंद्र सिंह, जगदेव, विजय, राजेंद्र ठाकुर, सुनील कुमार, अनिल डोगरा, राकेश चंदेल, सुभाष व समीर आदि मौजूद रहे।