Monday, November 18, 2019 04:02 AM

सकोह के 300 कनाल होंगे बंजर

दूहंदी कूहल में कई जगह रिपेयर करने के बाद भी किसानों के खेतों तक नहीं पहुंचा पानी

धर्मशाला-नगर निगम धर्मशाला के अंतर्गत आने वाले वार्ड नंबर नौ सकोह गांव में 300 कनाल उपजाऊ भूमि बंजर होने की कगार पर पहंुच गई है। पिछले एक सप्ताह से ग्रामीणों ने हजारों रुपए खर्च कर दूहंदी कूहल में कई जगह रिपेयर कर पानी पहुंचाने का प्रयास किया, लेकिन एक सप्ताह की कड़ी मेहनत के बाद भी किसानों के खेतों तक पानी नहीं पहुंच पाया है। इसका मुख्य कारण मुख्य सड़क के नीचे बनी नालियां हैं। आईपीएच विभाग ने इन नालियों में लोगों के घरों को दिए पानी के कनेक्शन की पाइपें डाल दी हैं। जिसमें अब कूड़ा-कचरा और गाद फंसने के कारण नाली पूरी तरह ब्लाक हो गई है। जिसके कारण सड़क के दूसरी ओर पानी नहीं पहुंच पा रहा है। धान की खेती को प्रयाप्त पानी नहीं मिल पा रहा है जिससे अब किसान परेशान हो गए हैं किसानों ने कई बार प्रशासन को समस्या से अवगत करवाया है पर विभाग ने इस पर कोई भी कार्रवाई नहीं की है। किसानों कुलवीत, जतिन, मनोज, प्रकाश चांद, मदन लाल , सुभाष , जोगिंद्र सिंह , कमल, परवेश, विजय, रिंकू , कमलेश, किशन, अनूप, अतुल, हरिकृष्ण, नवीन लाल सिंह, बालकृष्ण, अरविंद ने बताया कि हर साल इस समस्या का सामना करना पड़ता है। खेतों में पानी पहुंचाने वाली कूहल में जमा गंदगी को गुरुवार को किसानों ने खुद ही निकलना शुरू किया। आईपीएच विभाग की ओर से लगाई गई पानी की पाइपों के कारण अधिकतर कूड़ा-कचरा नाली में फंस जाता है। कूहल में जमा हुए कूड़े कचरे की वजह से खेतों में पानी निरंतर नहीं पहुंच पाता है। सकोह में सिचांई कूहल की सुचारू रूप से सफाई न होने के चलते पानी खेतों तक नहीं पहुंच पा रहा है। जिसके कारण किसान समय से धान की फसल की रोपाई नहीं कर पा रहे है। किसानों ने कहा कि आईपीएच विभाग से पार्षद तक कई बार कूहल से पाइपें हटाने लिखित शिकायत भी दी गई। इसमें कोई कारवाही नहीं हुई। लोगों का  कहना है कि इस नहर के पानी पर कई गांवों के किसानों की खेती निर्भर है।