Sunday, November 17, 2019 03:43 PM

सचिवालय में रात को खड़ा नहीं रहेगा एक भी वाहन

शिमला - राज्य सचिवालय परिसर में रात्रि के समय में कोई भी वाहन खड़ा नहीं रखा जाएगा। ऐसा होने पर संबंधित चालक के खिलाफ कार्रवाई होगी। ऐसी कार्रवाई आठ चालकों के खिलाफ हो भी चुकी है जिन्हें सचिवालय प्रशासन विभाग ने चार्जशीट सौंपी है। उन्हें कहने के बावजूद वह वाहन को यहां खड़ा रख गए जिसके चलते उनपर कार्रवाई की गई है। सचिवालय प्रशासन साफ निर्देश दिए गए हैं कि रात्रि के समय ना तो सरकारी वाहन ही यहां परिसर में खड़े रखे जाएंगे वहीं कोई कर्मचारी भी यहां अपना वाहन नहीं रख सकता। सुरक्षा की दृष्टि से भी यह जरूरी है वहीं कई दूसरे मसले भी हैं जोकि पहले सामने आ चुके हैं। ऐसे में सचिवालय प्रशासन ने सरकारी ड्राइवरों को हिदायत दी है कि वह वाहन को यहां ना रखें। सचिवालय प्रशासन ने परिसर से बाहर पार्किंग की सुविधा दी है जहां पर वाहन खड़े किए जा सकते हैं लेकिन अमूमन देखने में यह आ रहा है कि वहां पर निजी लोगों के वाहन होते हैं और सरकारी वाहन को वहां पर खड़ा करने की जगह नहीं मिलती। ऐसे में यह लोग सचिवालय के परिसर में ही वाहन लगा देते हैं जिसके लिए उन्हें साफ मना कर दिया गया है। सचिवालय प्रशासन विभाग ने चार्जशीट किए गए चालकों से जवाब मांगा है जिसके बाद तय होगा कि उनपर आगे की कार्रवाई की जाएगी या नहीं। खुद सचिव सचिवालय व सामान्य प्रशासन इस मामले को देख रहे हैं जिन्होंने कुछ चालकों को अपने कमरे में बुलाकर उनसे बात करके हिदायत दी है। कईयों को हिदायत देकर भी छोड़ा गया है लेकिन कई चालक निर्देशों पर अमल नहीं कर रहे थे। राज्य सचिवालय के परिसर में वाहन लाने के लिए दोपहर में काफी सख्ती है। सचिवालय प्रशासन द्वारा जिन लोगों को स्टीकर दिए हैं दोपहर में वही वाहन ला सकते हैं शेष लोगों को यहां पर आने नहीं दिया जाता। क्योंकि अधिकारियों के वाहन खड़े करने को जगह नहीं बचती इसलिए ऐसा किया गया है। इतना ही नहीं जहां पर मंत्रियों के वाहन लगते हैं वहां भी अब निजी वाहनों को लगने नहीं दिया जा रहा है। मुख्य मार्ग के साथ लगते इस स्थान पर कोई भी गाड़ी लगा देता है। वाहनों की पार्किंग को लेकर सचिवालय प्रशासन पहले से सख्त हुआ है।