Monday, July 22, 2019 01:05 PM

सड़क से उतर खेतों में चल रहीं गाडि़यां

हमीरपुर—ग्राम पंचायत कुठेड़ा से गरने दा गलू संपर्क मार्ग की हालत इन दिनों काफी दयनीय है। चार किलोमीटर लंबे इस संपर्क मार्ग में से तीन किलोमीटर हिस्सा गड्ढों में तबदील हो चुका है। कुछ माह पहले कुठेड़ा की ओर से एक किलोमीटर भाग में टायरिंग की गई, लेकिन बाकी तीन किलोमीटर के हिस्से में वाहन चलाना मुश्किल है। सुजानपुर से अवाहदेवी राष्ट्रीय राजमार्ग को जोड़ने वाले इस संपर्क मार्ग पर कुठेड़ा, मुठान, धुनातर, पन्याला व गरने दा गलू गांवों की हजारों की आबादी निर्भर है, जिन्हें आए दिन खस्ताहाल मार्ग पर दुर्घटना का अंदेशा सताता रहता है। इस सड़क पर दोपहिया वाहन चलाना खतरे से खाली नहीं है। कई बार दोपहिया वाहन चालक दुर्घटना का शिकार होने से बाल-बाल बचे हैं। धुनातर व पन्याला गांव को जोड़ने वाले पुल के पास सड़क की हालत काफी दयनीय है। यहां सड़क काफी टूट चुकी है, जिस वजह से चालक गाडि़यों को खेतों से होकर गुजार रहे हैं। इससे फसलों को भी नुकसान पहुंच रहा है। ग्रामीणों में रणजीत सिंह, तृत्पा देवी, आत्मी देवी, वीरेंद्र, राजकुमार, माया देवी, प्रदीप डोगरा, शशि, कपिल, बबली व आरती आदि ने लोक निर्माण विभाग से गुहार लगाई है कि जल्द से जल्द इस संपर्क मार्ग की मरम्मत की जाए, जिससे लोगों व दोपहिया वाहन चालकों को राहत मिले। यही नहीं, इस सड़क पर राजकीय प्राथमिक पाठशाला डलवाणा गुज्जरां के पास जगह काफी तंग है, जिससे कोई भी वाहन सड़क से लुढ़क सकता है। इसके अलावा पन्याला में भी सड़क के एक मोड़ पर ढलान है, जिससे बड़ा वाहन पलट सकता है। इस स्थान को भी सुधारने की जरूरत है। वहीं, पीडब्ल्यूडी के अधिशाषी अभियंता विवेक शर्मा का कहना है कि कुठेड़ा से गरने दा गलू चार किलोमीटर के संपर्क मार्ग की एक किलोमीटर तक टायरिंग कर दी गई है।