Friday, December 13, 2019 07:20 PM

सड़क से मलबा न हटाया तो होगा आंदोलन

 नेरवा में तीन महीने से सड़क पर पड़ा है भूस्खलन का मलबा, राहगीरों का पैदल चलना हुआ दुश्वार

नेरवा -व्यापार मंडल नेरवा की एक आपातकालीन बैठक अध्यक्ष राजीव भिख्टा की अध्यक्षता में आयोजित की गई जिसमें नेरवा बाजार के व्यापारियों की समस्याओं, बाजार में सफाई व्यवस्था, विद्युत व्यवस्था एवं कई अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की गई। इनमें नेरवा बाजार की नालियों का निर्माण व बरसात में लोक निर्माण विभाग के विश्राम गृह के समीप क्षतिग्रस्त हुई सड़क की मरम्मत का मुद्दा सबसे अधिक चर्चा में रहा। इस अवसर पर निर्णय लिया गया कि शीघ्र ही व्यापार मंडल की आम बैठक आयोजित की जाएगी जिसमें व्यापार मंडल के सभी सदस्यों का उपस्थित रहना आवश्यक रहेगा। इस दौरान बाजार की सफाई व्यवस्था को लेकर भी चर्चा की गई। चर्चा के दौरान यह बात सामने आई कि कुछ दुकानदार अपनी दुकानों का कूड़ा पोलिथीन में पैक कर के या खुला सड़क में फेंक कर चले जाते है जोकि बाजार की सड़क में फैल जाता है जिस वजह से सफाई कर्मियों को भी सफाई करने में कठिनाई होती है। ऐसे लोगों को हिदायत दी गई है कि अपनी दुकानों का कूड़ा दुकान के बाहर कूड़ादान लगा कर उसमे ही रखें। सफाई कर्मचारी प्रतिदिन इस कूड़े को उठा कर ले जाएंगे। सब्जी विके्रताओं को भी हिदायत दी गई है कि दुकानें बंद करने के बाद गली सड़ी सब्जियां दुकानों के बाहर सड़क किनारे या नालियों में न फेंके। इन सब्जियों को आवारा पशु सड़कों में बिखेर देते हैं व यह पशु सड़क व दुकानों के बाहर बरामदों में गोबर कर गंदगी फैलाते हैं। बाजार में नालियों का निर्माण व अगस्त माह में रेस्ट हाउस नेरवा के समीप क्षतिग्रस्त हुई सड़क का मुद्दा सबसे अधिक चर्चित रहा। उल्लेखनीय है कि नेरवा बाजार में कुछ स्थानों पर अवैध निर्माण हटाने के बाद बाजार की नालियां क्षतिग्रस्त हो गई थी। इस वजह से बाजार में जगह-जगह बदबूदार गंदगी फैली हुई है। गंदगी की वजह से दुकानदार तो परेशान है ही बाजार से गुजरने वाले लोगों को भी इस गंदगी की वजह से परेशानी झेलनी पड़ रही है। इसके अतिरिक्त 18 अगस्त को हुई भारी बरसात से रेस्ट हाउस नेरवा के समीप भू-स्खलन से नेरवा शिमला मुख्य मार्ग व बस स्टैंड मार्ग मलबे से भर गया था। लोक निर्माण विभाग द्वारा इन दोनों मार्गों से अभी तक मलबा नहीं हटाया गया है जिस कारण इस स्थान पर लोगों को पैदल गुजरना मुश्किल हो रहा है। कई लोग इस मलबे में फिसल कर चोटिल भी हो चुके हैं। स्कूल के छोटे-छोटे छात्रों को इस सड़क पर सब से ज्यादा मुश्किल का सामना करना पड़ रहा है। व्यापार मंडल नेरवा ने लोक निर्माण विभाग को चेतावनी दी है कि यदि एक सप्ताह के भीतर इन दोनों मार्गों से मलबा नहीं हटाया गया व नालियों के निर्माण का कार्य शुरू नहीं किया गया तो स्थानीय लोगों और व्यापारियों द्वारा सड़कों पर उतर कर विभाग के खिलाफ  मोर्चा खोल दिया जाएगा। बैठक में व्यापार मंडल नेरवा के उपाध्यक्ष दिनेश अमरेट, कोषाध्यक्ष अमन सूद, वरिष्ठ व्यवसायी रणधीर राठौर, नरेंदर ठाकुर, हैप्पी राठौर, जगत चौहान, अरविंद भिख्टा, बलदेव तंगड़ाईक, बेबी तंगड़ाईक एवं रमेश भीमटा सहित दो दर्जन व्यापारियों ने भाग लिया।