Tuesday, July 16, 2019 11:48 PM

सत्ती के खिलाफ निंदा प्रस्ताव

 धर्मशाला    —पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के धर्मशाला प्रवास के दौरान कांगड़ा-चंबा के सभी वरिष्ठ नेता एक मंच पर दिखे। संसदीय क्षेत्र के इस कार्यकर्ता सम्मेलन में कांग्रेस नेताओं के निशाने पर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती ही रहे। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ की गई टिप्पणी को लेकर गुस्साए कांग्रेसी नेताओं ने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष के खिलाफ जमकर निशाना साधा और निंदा प्रस्ताव पारित किया। इस दौरान कांग्रेस पार्टी ने यह भी निर्णय लिया कि पूरे प्रदेश भर में सतपाल सत्ती के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन कर उनके पुतले जलाए जाएंगे। पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह, प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर, राष्ट्रीय सचिव सुधीर शर्मा, पंजाब प्रभारी आशा कुमारी, पूर्व मंत्री जीएस बाली सहित तमाम नेताओं ने सतपाल सत्ती के बयान की निंदा करते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष के खिलाफ आंदोलन छेड़ने का ऐलान किया। इतना ही नहीं, उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाने और कानूनी कार्य करने की बात तक कह डाली। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर ने कहा कि सतपाल सत्ती ने सार्वजनिक रूप से माफी नहीं मांगी, तो उनका हर मोर्चे पर विरोध किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सतपाल सत्ती के इस बयान से स्पष्ट हो रहा है कि आरएसएस और भाजपा की ऐसी ही संस्कृति है। उन्होंने कहा कि हिंदु संस्कृति और भारतीय संस्कृति के दावे करने वाली आरएसएस की पोल सत्ती के बयान ने खोल दी है। राठौर ने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और जयराम ठाकुर की शह पर ही सतपाल सत्ती ने ऐसा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महिलाओं का सम्मान भी नहीं करते हैं। वह महिलाओं के बीच ऐसे अशोभनीय बयान दे रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने राधा स्वामियों के खिलाफ भी बयान देने का आरोप लगाया है।  इस अवसर पर कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव सुधीर शर्मा, पूर्व सांसद चंद्र कुमार, विधायक आशीष बुटेल, पूर्व विधायक पवन काजल, यादवेंद्र गोमा, जगदीश सिपहिया, प्रदेश महासचिव केवल पठानिया, देवेंद्र जग्गी सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

नीरज भारती तो कांग्रेस के सदस्य ही नहीं

धर्मशाला। हिमाचल की राजनीति में सोमवार को अचानक मुद्दों से हटकर सियासत नेताओं के बयानों की ओर मुड़ गई। सम्मेलन जहां भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतपाल सत्ती के खिलाफ हो गया, वहीं कांगे्रस सरकार में रहे पूर्व सीपीएस नीरज भारती द्वारा की गई अभद्र टिपणियों पर पूछे सवाल पर कांग्रेस नेताओं ने कह दिया कि नीरज भरती ने तो सदस्यता फार्म ही नहीं भरा है, ऐसे में वह कांग्रेस के सदस्य नहीं हैं। इस मामले पर हर्ष महाजन, सुधीर शर्मा के बाद कुलदीप राठौर ने भी यह कहकर भारती से पल्ला झाड़ लिया। इसके बाद एक प्रेस वार्ता के दौरान जब कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने कहा कि नीरज भारती की टिप्पणी व्यक्तिगत है। कांग्रेस का उससे कोई लेना नहीं है। नीरज भारती ने सदस्यता फार्म भी नहीं भरा है।