सपने में सचिन तेंदुलकर से डरते थे शेन वॉर्न, अब भी हैं बैटिंग के मुरीद

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व महान लेग स्पिनर शेन वॉर्न ने अपने चिर प्रतिद्वंद्वी सचिन तेंदुलकर को किसी भी परिस्थिति में बल्लेबाजी करने वाला बल्लेबाज और अपने पूर्व कप्तान स्टीव वॉ को ‘मैच विजेता’ के बजाय ‘मैच बचाने वाला’ करार दिया. दुनिया के दिग्गज लेग स्पिनर शेन वॉर्न अपने पीक पर होने के बावजूद सचिन से थर-थर कांपते थे. आपको बता दें खुद शेन वॉर्न ने एक बार खुलासा किया था कि सचिन तेंदुलकर सपने में आकर भी उन्हें डराते थे. 1998 में ऑस्ट्रेलिया के भारत दौरे के दौरान पर सचिन ने वॉर्न की गेंदबाजी की धज्जियां उड़ा दी थीं.

वॉर्न ने सचिन को बताया बेस्ट

खेल के महान स्पिनरों में से एक वॉर्न ने इंस्टाग्राम लाइव पर अपने प्रशंसकों से बात करते हुए कहा, ‘अगर मुझे ऐसा बल्लेबाज चुनना हो जो किसी भी हालात में बल्लेबाजी कर सके तो यह तेंदुलकर और लारा में से ही होगा, लेकिन मैं तेंदुलकर को चुनूंगा.’

लारा और सचिन में ये अंतर

शेन वॉर्न ने कहा, ‘अगर हमें टेस्ट मैच के अंतिम दिन 400 रनों का पीछा करना हो तो मैं निश्चित रूप से लारा को चुनूंगा.’ तेंदुलकर ने भारत के लिए वर्ल्ड रिकॉर्ड 200 टेस्ट खेले और 53.78 की औसत से 15,921 रन जुटाए जबकि 463 वनडे में उन्होंने 44.83 की औसत से 18,426 रन बनाए. ब्रायन लारा ने 131 टेस्ट में 11,953 रन और 299 वनडे में 10,405 रन जोड़े थे. जब वॉर्न से उनके पूर्व कप्तान वॉ के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह ऐसा खिलाड़ी था जो मुश्किल हालात से टीम को बाहर निकाल देते थे.

स्टीव वॉ मैच बचाने वाले खिलाड़ी

वॉर्न ने कहा, ‘स्टीव मैच विजेता के बजाय मैच बचाने वाला था.’ वॉर्न ने अपनी सर्वकालिक ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट इलेवन टीम में भी वॉ को शामिल किया जिसमें कप्तानी एलेन बॉर्डर को सौंपी.  टीम के बारे में वॉर्न ने कहा, ‘मैं केवल उन खिलाड़ियों को चुन रहा हूं जिनके साथ मैं खेला हूं, इसलिए डेविड वॉर्नर इस टीम का हिस्सा नहीं होंगे जबकि वह ऑस्ट्रेलिया के बेहतरीन सलामी बल्लेबाजों में से एक हैं.’ वॉर्न की टीम में मैथ्यू हेडन, माइकल स्लेटर, रिकी पोंटिंग, मार्क वॉ, बॉर्डर और स्टीव के अलावा एडम गिलक्रिस्ट, ग्लेन मैक्ग्रा, जेसन गिलेस्पी, ब्रूस रीड और टिम मे शामिल हैं.

Related Stories: