Monday, September 16, 2019 07:49 PM

सबसे बड़ा सवाल,आखिर कब मिलेंगे होस्टल

एचपीयू के ब्वायज होस्टल आबंटन प्रक्रिया में देरी; छात्रों को झेलनी पड़ रहीं दिक्कतें, बढ़ने लगा रोष

शिमला -हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के ब्वायज होस्टल आबंटन प्रक्रिया में आ रही देरी के कारण छात्रों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बता दें कि एचपीयू में शिक्षा प्राप्त करने के लिए अधिकतर दूरदराज से छात्र आते हैं। ऐसे में इन छात्रों के पास एचपीयू के होस्टल ही रहने का सहारा होता है, लेकिन एचपीयू प्रशासन  अभी तक गर्ल्ज होस्टल आबंटन प्रक्रिया को ही पूरा कर पाया है। ब्वायज होस्टल के  आबंटन हालांकि मैरिट के आधार पर ही होनी है, जिससे के लिए एचपीयू के अलग-अलग विभाग से मैरिट लिस्ट पर आधारित होस्टल के लिए आवेदन आने बाकी हैं। होस्टल आबंटन प्रक्रिया में आ रही देरी का एक कारण जहां छात्रों के बीच बीते कुछ दिनों में होस्टल शिफ्ट के वजह से छात्र विरोध कर रहे थे, वहीं एचपीयू प्रशासन छात्रों पर होस्टल खाली करवाने के लिए भी दवाब बन रहा था ऐसे में होस्टल में रह रहे छात्रों में काफी रोष था। बावजूद इसके एचपीयू प्रशासन ने वाईएसपी होस्टल से छात्रों को दूसरे होस्टल में शिफ्ट कर दिया गया है।  विश्वविद्यालय प्रशासन और इस होस्टल में रह रहे छात्रों के बीच बीते कई दिनों से चल रहा विवाद सुलझा हुआ नजर आ रहा है। इसी के साथ अब वाईएसपी होस्टल में नए छात्रों को होस्टल आबंटन प्रक्रिया अमल में लाई जाएगी। साथ ही जानकारी मिली है कि एचपीयू के पुराने छात्रों को सिनियर छात्रों को अलग-अलग होस्टलों में  शिफ्ट किया गया है। काफी दिनों से चल रहे इस विवाद को एचपीयू ने संभाल लिया है। उम्मीद जताई जा रही है कि एचपीयू के होस्टलों में छात्र संगठनों द्वारा होने वाले झगड़े को भी जल्द ही खत्म किया जाएगा और एचपीयू में शांति पूर्ण व शैक्षणिक माहौल कायम किया जाएगा इसके लिए एचपीयू प्रशासन लगातार प्रयासरत है।