Wednesday, July 17, 2019 07:52 PM

सरकार को पेंशनर्ज की फिक्र

रिकांगपिओ —सेवानिवृति के बाद पेंशन धारकों को किसी  तरह की मुश्किल का सामना न करना पड़े उस उद््देश्य की पूर्ति के लिए गुरुवार जिला  मुख्यालय रिकांगपिओ में महालेखाकार कार्यालय द्वारा दो दिवसीय पेंशन आदालत का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता उपायुक्त किन्नौर गोपाल चंद ने की। इस अवसर पर महालेखाकार कार्यालय, जिला के समस्त आहरण एवं वितरण अधिकारियों, पेंंशन कल्याण संघों के पदाधिकारी भी उपस्थित थे। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश सरकार कर्मचारियों तथा सेवानिवृत्त कर्मचारियों को देय भतों के अतिरिक्त अन्य सभी प्रकार के सेवानिवृत्ति के बाद मिलने वाले लाभों को समय पर अदा करने के लिए कृतसंकल्प है, जिसके लिए हिमाचल प्रदेश के सभी जिलों में ऐसी पेंशन आदालतों का आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर रनदीप कौर औजला,   उपमहालेखाकार ने उपायुक्त किन्नौर को सम्मानित करने के उपरांत जिला किन्नौर के विभिन्न विभागों से आए आहरण एवं वितरण अधिकारियों का पेंशन अदालत में भाग लेने के लिए धन्यवाद किया। औजला ने कहा इस अदालत का मुख्य उद्देश्य राज्य सरकार द्वारा पेंशन, पारिवारिक पेंशन, सामान्य भविष्य निधी, ऋण संबंधित समय-समय पर जारी संशोधित नियमों, अधिसूचनाओं, दिशानिर्देशों के बारे में विस्तृत चर्चा जाएगी। उन्होंने पेंशन भोगियों,  अभिदाताओं द्वारा मौके पर रखी गई समस्याओं एवं विभागों में पूर्ण दस्तावेज के आभाव में लंबित मामलों का यथासंभव निपटारा किए जाने का भी आश्वासन दिया। इस अवसर पर हरीश जुल्का, लेखाधिकारी ने बताया कि जिन अभिदाताओं एवं पेंशन भोगियों द्वारा जो भी मामले प्रस्तुत किए जाएंगे उनका यथा संभव निपटान इस पेंशन अदालत के दौरान ही किया जाएगा।  इस अवसर पर ओपी ठाकुर, हंसराज, तिलक राज, जुधिया राम व विजय कुमार लेखाधिकारियों ने भी पेंशन से संबधिंत विभिन्न मामलों के बारे में विस्तृत जानकारी दी।