Monday, November 18, 2019 05:00 AM

सरड़ डोगरी खड्ड में अधमरा किया ग्रामीण

 गरली—नैहरनपुखर में दुकानदार पर हुए आत्मघाती जानलेवा हमले का खौफ अभी लोगों के दिल से निकला भी नहीं था कि अब ऐसा ही एक ताजा मामला गरली के निकटवर्ती गांव सरड डोगरी में पेश आने से हर किसी को सकते में डाल दिया है। 11 जुलाई रात करीब आठ बजे गांव  सरड़ डोगरी में अवैध खनन कर रहे एक ट्रैक्टर चालक को ऐसा कार्य करने  से रोका, तो उसने तुरंत अपने अन्य चार साथियों को  बुलाकर  ग्रामीण तीर्थ राम पर जानलेवा हमला बोल दिया। उक्त  हमलावरों ने  न केवल तीर्थ राम को अधमरा समझकर बही खड्ड में छोड कर भाग निकले, बल्कि इस हादसे मे तीर्थ राम की बाइक को भी उन्होंने बुरी तरह तोड़ डाला और उसके  बैग का सामान भी इधर उधर बिखेर दिया। मारपीट से   तीर्थ राम के सिर, बाजू, टागों व शरीर के अन्य हिस्सों पर गहरी चोटें आई हैं। सिर में गहरा जख्म होने पर टांके लगे हैं। इस वारदात की सूचना थाना प्रभारी रक्कड़ सुशील कुमार को मिलते ही उन्होंने तुरंत अडिशनल एसएचओ विक्रम सिंह व अन्य पुलिस दल को मौके पर भेजा। उन्होंने  घटनास्थल का जायजा लेकर अरोपी हमालावरों के खिलाफ  विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कर सख्त कार्रवाई अमल में लाई है। मारपीट का शिकार हुुआ। तीर्थ राम ने मौके पर पहुंची रक्कड़ पुलिस को बताया कि हमारी मलकीयती भूमि के साथ ही खड्ड में अवैध खनन कर रहे एक ट्रैक्टर चालक को मैंने रोका, तो उसने मेरी बात नहीं मानी और बेखौफ होकर खनन कार्य में लगे रहे, वहीं थोड़ी देर बाद जब में अपनी बाइक पर सवार होकर अपने घर के लिए निकला, तो कुछ लोगों ने वहां खड्ड में ही मेरा अचानक  रास्ता रोक कर मुझ पर हमला कर दिया। हमलावरों में छह लोग थे, जिसमें चार लोगों ने मुझ पर हमला किया। पीडि़त परिवार ने एसपी कांगड़ा व डीजीपी शिमला से मांग की है कि उक्त हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।  पुलिस थाना प्रभारी सुशील ने बताया कि पीडि़त तीर्थ राम का मेडिकल करवाकर   अरोपियों के खिलाफ  मुकदमा दर्ज किया गया है।