Tuesday, September 29, 2020 04:10 PM

सरस मेला… सिल्क साडि़यों का जलवा

ऊना - ग्रामीण विकास विभाग के सरस मेले में खरीददारों की भारी भीड़ उमड़ रही है। पुराना बस अड्डा ऊना पर चल रहे मेले में हाथ से बने उत्पाद आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं और लोग इनकी जमकर खरीददारी कर रहे हैं। मेले में 21 राज्यों के स्वयं सहायता समूह भाग ले रहे हैं, जिनके उत्पादों की प्रदर्शनी लोगों को लुभा रही है। कई राज्य ऐसे हैं जो पहली बार किसी सरस मेले में भाग ले रहे हैं। तेलंगाना व बिहार के कपड़े की काफी डिमांड है। बिहार के मशहूर भागलपुर सिल्क की साडि़यां महिलाओं को लुभा रही हैं और इनकी खूब बिक्री हो रही है। बिहार के स्टाल देख रहे सैयाद का कहना है कि पिछले तीन दिनों में अच्छी सेल हुई है। विशेष तौर पर महिलाएं उनके उत्पादों को देखने के लिए आ रही हैं और उनकी खरीददारी भी कर रही हैं। उन्होंने बताया कि भागलपुर सिल्क हथकरघा में तैयार होता है। इसी तरह तेलंगाना के स्टाल पर हाथ से बने कपड़े के प्रति भी लोगों को काफी उत्साह है।

चंबा चुख-सोलन कुशा के उत्पाद भी चमके

सरस मेले में हिमाचल प्रदेश के कई स्वयं सहायता समूह भी भाग ले रहे हैं। चंबा की मशहूर चुख का स्वाद लेने वालों की भी कमी नहीं है। चंबा के स्टाल पर चुख के साथ-साथ अन्य अचार भी उपलब्ध हैं। इस स्टाल की देखरेख कर रही महिला का कहना है कि चुख की मांग अच्छी है और पिछले तीन दिन में खूब बिक्री हुई है। इसके साथ-साथ सोलन से आया स्वयं सहायता कुशा के उत्पादों की बिक्री कर रहा है। कुशा से बनी चपलें व टोकरियों लोगों को लुभा रही हैं। इस स्वयं सहायता समूह की मंजु का कहना है कि वह चायल की रहने वाली है और यहां आकर अच्छा लग रहा है। उनके उत्पाद खूब बिक रहे हैं और वह आर्डर पर भी पैरों के आकार के हिसाब से कुशा की चप्पलें तैयार कर देती हैं।

लुभा रहे मिट्टी के बरतन

हरियाणा के मेवात से आए जगदीश प्रजापति ने मिट्टी के बरतनों की प्रदर्शनी लगाई है। उनका कहना है कि वह कई मेलों में पहले भी प्रदर्शनी लगा चुके हैं। मिट्टी के कप, कुलहड़ और दूसरे बरतन खूब बिक रहे हैं। इस स्टाल पर रसोई में इस्तेमाल होने वाले बरतनों से लेकर ड्राइंग रूम का सजावटी सामान उपलब्ध है। जगदीश का कहना है कि लोगों में मेले के प्रति काफी उत्साह है।

चार दिन में15 लाख से अधिक का कारोबार

पुराने बस अड्डा पर चल रहे सरस मेले के बारे में उपायुक्त ऊना संदीप कुमार ने बताया कि बुधवार से मेला शुरू हुआ है और मेले के पहले तीन दिनों में लगभग 15 लाख से अधिक का कारोबार हुआ है।