Monday, September 23, 2019 01:46 AM

साढ़े 45 करोड़ बहा ले गई बरसात

बारिश से हमीरपुर में सड़कें क्षतिग्रस्त; मकान और गोशालाएं जमींदोज, पुल टूटने से डायवर्ट किया ट्रैफिक

हमीरपुर -भारी बरसात के कारण प्रदेश के अन्य जिलों की तरह हमीरपुर में भी अबतक करोड़ों का नुकसान हो चुका है। अब तक जुटाई जानकारी के मुताबिक रविवार से लेकर सोमवार शाम तक जिलाभर में 24 घंटों के भीतर सात करोड़ 87 लाख 62 हजार रुपए का नुकसान हो चुका है जबकि अब तक हुई बरसात से हमीरपुर जिले में 45 करोड़ 38 लाख 16 हजार 299 रुपए बरसात बहाकर ले जा चुकी है। सबसे ज्यादा नुकसान लोक निर्माण विभाग का आंका गया है। विभाग को अबतक कुल 25 करोड़ 49 लाख 50 हजार का नुकसान हो चुका है। जानकारी के मुताबिक रविवार और सोमवार सायं तक जिला हमीरपुर में करीब 14 मकान और सात गोशालाएं भारी बरसात के कारण ढह चुकी हैं। हालांकि कहीं से किसी तरह के जानी नुकसान की सूचना फिलहाल अभी तक नहीं है। इसके अलावा जिलाभर में छोटी बड़ी 30 सड़कें बरसात के कारण गिरे ल्हासे और डंगे गिरने से बाधित हुई हैं। दोपहर बाद तक 22 सड़कों पर यातायात सुचारू किया जा चुका था। उखली के पास मैड़ में पुल क्षतिग्रस्त होने से राष्ट्रीय राजमार्ग का सारा यातायात डायवर्ट करना पड़ा। ऐसे में इस मार्ग से भारी वाहनों की आवाजाही वाया लदरौर, भराड़ी, दधोल की गई है जबकि छोटे वाहनों के लिए वाया उखली, भोटा व पट्टा होकर आवाजाही की व्यवस्था की गई है। वहीं मोरसू में निर्माणाधीन पुल का एक पिल्लर खड्ड में आए पानी के तेज बहाव के कारण टूट गया। राष्ट्रीय उच्च मार्गों को 24 घंटे के भीतर तीन करोड़ 10 लाख 95 हजार रुपए का नुकसान आंका गया है। जबकि कृषि विभाग को फसलों का लगभग एक करोड़ 88 हजार रुपए तथा विद्युत विभाग को लगभग पांच लाख 46 हजार रुपए का नुकसान आंका गया है। इसके अतिरिक्त मकानों, गोशालाओं, व्यावसायिक परिसर और डंगों को लगभग आठ लाख 52 हजार रुपए का नुकसान 24 घंटों के भीतर आंका गया है। आईपीएच को 24 घंटों में भारी बारिश के कारण हमीरपुर जिला में तीन करोड़ 61 लाख 80 हजार रुपए का नुकसान हुआ है।

पुलिया के एंगल बहे 

भोटा। लगातार तीन दिनों से हो रही भारी बारिश के कारण ऊजाण पटेरा को जाने वाली पुलिया क्षतिग्रस्त हो चुकी है। यह पुलिया कभी भी गिर सकती है। पुलिया पर जो एंगल लगाए गए थे वे भी खड्ड मंेे बह चुके हैं। इस वजह से मोरसू पंचायत के लोगों को ढेर सारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।