Friday, December 13, 2019 07:23 PM

सीएम ने किया निराश, लोगों की टूटी आस

 रेणु मंच से नहीं हुई कफोटा में बीडीओ आफिस की घोषणा, एक दर्जन पंचायतें प्रस्ताव पास कर तहसीलदार कमरऊ के माध्यम से सीएम को भेज चुकी है मांग

पांवटा साहिब -गिरिपार क्षेत्र की शिलाई विधानसभा क्षेत्र के दूसरे केंद्र बिंदू कफोटा कस्बे में बीडीओ कार्यालय खोलने की रेणु मंच से घोषणा की लोगों की आस पूरी नहीं हो पाई। मुख्यमंत्री ने मंच से कोई घोषणा नहीं की, जिससे कफोटा क्षेत्र में बीडीओ कार्यालय की घोषणा की उम्मीद लगाई जनता भी मायूस नजर आई। क्षेत्र के लोगों को मुख्यमंत्री के सिरमौर दौरे से उम्मीद जग गई थी कि सीएम लंबे समय से लंबित इसकी घोषणा करेंगे। सीएम जयराम ठाकुर मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय श्रीरेणुकाजी मेले के समापन पर रेणुकाजी पहुंचे। कफोटा क्षेत्र की जनता उम्मीद लगाए बैठी थी कि मुख्यमंत्री उनकी इस वर्षों से चली आ रही मांग को पूरा करने की रेणु मंच से घोषणा जरूर करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। गौर हो कि इस मांग को लेकर क्षेत्र की 11 पंचायतें ग्राम सभा में प्रस्ताव पास कर तहसीलदार कमरऊ के पास सीएम को भेज चुकी है। पिछले महीने भी क्षेत्र की करीब एक दर्जन पंचायतों के जनप्रतिनिधि की अगवाई में लोग कमरऊ तहसील पहुंचे और तहसीलदार से मुलाकात की। इस दौरान एक दर्जन पंचायतों के पारित प्रस्ताव के साथ तहसीलदार के माध्यम से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को एक ज्ञापन भेजा गया था, जिसमें कफोटा में जल्द से जल्द बीडीओ कार्यालय खोलने की मांग को दोहराया गया, ताकि इस मांग को सरकार जल्द अमलीजामा पहनाए। पंचायत प्रधान बोकाला खेउटा राम शर्मा, कांडो च्योग पंचायत प्रधान माया राम चौहान, रिटायर्ड बीडीओ संता राम शर्मा, एडवोकेट अनिल ठाकुर, क्षेत्रीय विकास समिति कफोटा के प्रधान लाला कल्याण सिंह, पूर्व जिला परिषद सदस्य जगत सिंह पुंडीर, व्यापार मंडल कफोटा के प्रधान वीर विक्रम सिंह, पूर्व प्रधान धनवीर ठाकुर, मुंशी राम पुंडीर व कमलेश पुंडीर आदि ने कहा कि कफोटा करीब डेढ़ दर्जन पंचायतों का केंद्र बिंदू है। कमरऊ तहसील की 19 पंचायतों का विकास खंड कार्यालय वर्तमान में पांवटा साहिब में पड़ता है जो कई पंचायतों से 70 से 80 किलोमीटर दूर पड़ता है। इसलिए शिलाई विधानसभा क्षेत्र के प्रस्तावित दूसरे बीडीओ कार्यालय को कफोटा में शीघ्र खोला जाना चाहिए।