Tuesday, February 18, 2020 06:56 PM

सुनो सरकार! कमजोर छात्रों का कैसे होगा बेड़ा पार

प्री-बोर्ड में कम अंक लेने वाले विद्यार्थियों का लर्निंग लेवल सुधारने के लिए नहीं उठाए कोई कदम

चंबा - सरकारी स्कूलों में गिर रहे शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए सरकार एवं विभाग की ओर से ली गई प्री-बोर्ड परीक्षाओं के बाद कम अंक वाले छात्रों के लर्निंग लेवल को इप्रूव करने के लिए क्या कदम उठाए जाएंगे इसे लेकर अभी तक स्थिति स्पष्ट नहीं हो पाई है। हालांकि सरकार एवं विभाग ने प्री बोर्ड परीक्षाओं में खराब रिजल्ट आने वाले छात्रों की एक्सट्रा कक्षाएं लगाने की बात कही है, लेकिन विंटर स्कूलोें में दस फरवरी तक अवकाश हैं। लिहाजा सवाल यह उठ रहा है कि विंटर स्कूलों में खराब रिजल्ट वाले स्कूलों एवं छात्रों की एक्स्ट्रा कक्षाएं कब लगेंगी। उधर, शिक्षा विभाग विंटर क्षेत्रों में स्कूल शुरू होने के दो दिन बाद प्री बोर्ड दूसरे चरण की परीक्षाएं करवाने की फिराक में हैं। वहीं , सरकार एवं विभाग की ओर से इसे लेकर स्थिति स्पष्ट न हो पाने के चलते शिक्षक  एवं छात्र भी असमंजस में है।  उच्च शिक्षा उपनिदेशक चंबा देवेंद्र पाल ने बताया कि प्री बोर्ड परीक्षाओं में खराब रिजल्ट आने पर वीक छात्रों की पढ़ाई पर अधिक फोक्स किया जाएगा। वीक सब्जेक्ट के छात्रों की एक्स्ट्रा कक्षाएं लगानी होंगी। इसके लिए संबंधित स्कूलों को अदेश जारी कर दिए हैं। विंटर स्कूलों में छुट््टियों के बाद एक्सट्रा कक्षाएं लगेंगी।  उधर, प्रदेश स्कूल प्रवक्ता संघ इकाई चंबा के अध्यक्ष दीप सिंह खन्ना ने बताया कि बिना मेकेनिजम एवं गाइडलाइन के फॉलो किए जा रहे एक्सपेरिमेंट से असमंजस की स्थिति बन रही है। अब प्री बोर्ड दूसरे चरण की परीक्षाएं शुरू होंगी, लेकिन विंटर क्षेत्रों में हुई पहले चरण की प्री बोर्ड परीक्षाओं में कम मार्कस आने वाले छात्रों का लर्निंग लेवल कैसे इंप्रूव होगा। इसे लेकर भी स्थिति स्पष्ट नहीं है।