Sunday, November 17, 2019 04:00 PM

सुन्नी मेले में नाटी किंग का धमाल

दो दिवसीय दशहरा मेले की दूसरी शाम में  लोक कलाकारों ने जमाया रंग, दर्शकों ने जमकर उठाया कार्यक्रम का लुत्फ

सुन्नी - दो दिवसीय दशहरा मेला सुन्नी की दूसरी एवं अंतिम सांस्कृतिक संध्या में स्टार कलाकारों के साथ स्थानीय कलाकारों ने खूब धमाल मचाया। लगभग डेढ़ दर्जन कलाकारों ने पहाड़ी, फिल्मी एवं पंजाबी गीतों एवं नृत्य से खूब रंग बिखेरे। अंतिम सांस्कृतिक संध्या में लोकप्रिय नाटी किंग कुलदीप शर्मा एवं प्रदेश के कई जाने माने कलाकारों को सुनने के लिए हजारों की संख्या में दर्शक मेला मैदान में मौजूद रहे। कार्यक्रम के स्टार कलाकार कुलदीप शर्मा की रात्रि नौ बजे के बाद मंच पर धमाकेदार एंट्री हुई उनके मंच पर आते ही दर्शक रोमांचित हो उठे। अपने इष्ट देव को याद करने के साथ ही उन्होंने पहाड़ी गीतों की झड़ी लगा दी। अपने प्रसिद्ध गाने रूमतिये से शुरू हुआ। गीतों का सफर,घुट घुट चाय रा लाणा म्हारे बिमला तेरे होटले से होते हुए दर्शकों को झूमने एवं नचाने के बाद ही थमा। इस दौरान उन्होंने अपने एक से बढ़कर एक अपने नए पुराने गीतों को पेश करके दर्शकों को मदहोश कर दिया। इन बढि़या जो तुड़का लाणा हो ठेकेदारनिये गाने पर दर्शक खूब थिरके तथा पंडाल सीटियों से गूंज उठा। कार्यक्रम में रोमांच एवं उतेजना भरने के लिए स्टार कलाकार कई बार दर्शकों के बीच भी थिरकते रहे। यही नहीं इस दौरान उन्होंने मेला कमेटी सदस्यों एवं अतिथियों के साथ भी मंच पर नृत्य करके खूब धमाल मचाया। अंतिम सांस्कृतिक सध्या में भाजपा बुद्धिजीवी प्रकोष्ठ के प्रांत सह संयोजक डा. प्रमोद शर्मा बतौर मुख्यातिथि उपस्थित हुए। कलाकारों ने भी अपनी दमदार प्रस्तुति से कार्यक्रम में जोश भरा। तंत्रा ब्वायज संतोष ने भी साथी कलाकारों के साथ खूब धमाल मचाया। वहीं स्थानीय हास्य कलाकार राकेश ने पहाड़ी एवं हिंदी में कॉमेडी करके दर्शकों को खूब हंसाया। कार्तिक शर्मा ने पहले स्टार कलाकार के तौर पर स्टार नाइट का मंच संभाला। प्रवेश निहालटा ने धारो पेंदे लागो कुपडी मामा , चमचमादे तेरे दंडडू तथा वीरेंद्र राहुल, रमेश, चेतराम कलसी ने भी कार्यक्रम में चार चांद लगा दिए। मोम मास्टर अकेडमी की नृत्यांगना के तांडव नृत्य से दर्शक भाव विभोर हो उठे। इसके साथ ही स्थानीय कलाकारों आशा कंवर, राजेन्द्र भारद्वाज, जेके चौहान, विकास, शीतल, प्रद्युम्न, राजेश, योगराज तथा आराधना ने भी पहाड़ी, फिल्मी एवं पंजाबी गानों से खूब समा बांधा। मंच संचालक सजंय ठाकुर एकर्मा बैंड दल तथा सहगल साउंड सोलन ने भी दोनों सांस्कृतिक संधाओं में आकर्षण का केन्द्र रहे। दो दिवसीय दशहरा मेला सुन्नी में इस मर्तबा दोनों सांस्कृतिक संध्याओं में नामी कलाकारों की प्रस्तुतियों से खूब रौनक रही।

कानून व्यवस्था चाक चौबंद

सांस्कृतिक संध्याओं में हजारों की संख्या में दर्शक मौजूद रहे तथा जमकर लुत्फ  उठाया। कानून व्यवस्था भी इस दौरान चाक चौबंद रही। थाना सुन्नी के अलावा अन्य थानों से भी अतिरिक्त पुलिस बल तैनात रहा। हालांकि आयोजन स्थल पर बिजली व्यवस्था में खामी पाई गई। सांस्कृतिक कार्यक्रमों के दौरान बिजली बाधित होने से रंग में भंग पड़ता रहा। सांस्कृतिक एवं रंगारंग कार्यक्रमों की जहा जिला स्तरीय मेले में खूब धूम रही, वहीं इस मर्तबा 14 के स्थान पर ग्यारह देवी देवताओं ने ही मेले में उपस्थिति दर्ज कराई।

कार्यक्रम में ये-ये रहे मौजूद

इस अवसर पर अध्यक्ष मेल कमेटी एवं उपमंडलाधिकारी शिमला ग्रामीण नीरज गुप्ता, तहसीलदार सुन्नी देवपाल चौहान, नायब तहसीलदार सत्यपाल शर्मा, व्यापार मंडल अध्यक्ष पवन गुप्ता, चुन्नी लाल, नगर पंचायत सदस्य नरेश राय,कपिल गुप्ता, गणेश कंवर, सत्या वर्मा, मुश्ताक कुरैशी, चेतसिंह तथा कमेटी के अन्य सदस्यगण मौजूद रहे।

सराहन बुशहर दशहरा मेला... पारंपरिक आभूषणों से सजे घोड़े आकर्षण का केंद्र

सराहन बुशहर - सराहन बुशहर का ऐतिहासिक दशहरा मेला आठ अक्तूबर से शुरू हो गया है। जिला स्तरीय दशहरा मेला सराहन अपनी प्राचीन समय से ही विशेष पहचान रखता है। हालांकि इस मेले की शुरुआत नवरात्र से ही हो जाती है। लोग दशहरा मेला में भाग लेने के लिए नवरात्र से ही आने लगते हैं। इस वर्ष दशहरा मेला भारी हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है। दशहरा मेला की शुरुआत भगवान रघुनाथ की शोभा यात्रा व रथ खींचने की परंपरा से शुरू हुआ। इसमें हजारों लोगों ने रथ खींचकर इस परंपरा को शुरू किया। इस दशहरा मेला में स्थानीय देवताओं सहित क्षेत्र से आए लगभग 12 देवता भाग ले रहे हैं। रथ यात्रा के दौरान रथ के सामने पारंपरिक आभूषणों से सुसज्जित दो घोड़े लोगोें के लिए विशेष आकर्षण का केंद्र रहे। इस वर्ष मेले के दौरान बाहर से आए व्यापारी हिस्सा ले रहे हैं। इनमें विशेषतौर पर बर्तनों, चाइनीज डिश, रेडीमेड आदि के स्टाल लगाए गए हैं। मेले को सफल बनाने के लिए प्रशासन की ओर से नाइट प्रोग्राम भी रखे गए हैं। बीती शाम कपिल शर्मा नाइट का दर्शकों ने खूब आनंद उठाया। यह सांस्कृतिक संध्या हर शाम आयोजित होगी। इसमें कई कलाकार अपनी कला का जौहर दिखाएंगे।