Thursday, July 16, 2020 08:24 PM

सुन लो…रिपोर्ट नेगेटिव आने पर भी फॉलो करने होंगे रूल्ज

सुन्नी-प्रदेश के बाहरी राज्यों में रहने वाले लोगों को वापस लाने के लिए सरकार के प्रयासों पर लोग कैसे बट्टा लगा रहे हैं। इसकी मिसाल हर रोज प्रदेश में दर्ज हो रहे मामलों से मिलती है। प्रदेश से बाहर रहने वाले लोगों को वापस आने पर संस्थागत एवं होम क्वारंटाइन रहना अनिवार्य किया गया है। बेशक बाहर से आने वाले लोगों की कोरोना सैंपलिंग रिपोर्ट नेगेटिव ही क्यों न हो। फिर भी उन्हें 14 दिन संस्थागत एवं 14 दिन होम क्वारंटाइन अवश्य काटना पड़ता है। परंतु कुछ लोग लापरवाही पूर्ण रूप से उक्त गाइडलाइन का उल्लंघन कर रहे हैं। मजबूरीवश पुलिस को ऐसे लोगों पर कार्रवाई करनी पड़ती है। ऐसा ही मामला थाना सुन्नी के तहत डोमेहर पंचायत के कढ़ारघाट में सामने आया। जानकारी के अनुसार दिल्ली के गाजियाबाद से कढ़ारघाट का एक युवक गत दिनों सुरेंद्र कुमार पुत्र प्रेम लाल दिल्ली के गाजियाबाद से वापस हिमाचल आया जिसके बाद युवक को प्रोटोकॉल के तहत 14 दिनों के लिए शिमला में संस्थागत क्वारंटाइन किया गया। युवक की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उसे होम क्वारंटाइन किया गया था। पुलिस के अनुसार स्वास्थ्य विभाग, पुलिस एवं पंचायत प्रतिनिधियों की संयुक्त टीम द्वारा रूटीन चैकिंग के दौरान पाया गया कि होम क्वारंटाइन किया गया युवक घर पर न होकर गाड़ी लेकर रामपुर की ओर गया है। होम क्वारंटाइन का उल्लंघन करने के जुर्म में पुलिस ने धारा 188ए269 एवं 271के तहत मामला दर्ज करके छानबीन शुरू कर दी है। मामले की पुष्टि करते हुए पुलिस उपाधीक्षक शिमला दिनेश शर्मा ने बताया कि युवक के विरुद्ध होम क्वारंटाइन उल्लंघन के तहत मामला दर्ज किया गया है। आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है।