Tuesday, January 21, 2020 11:18 AM

सेक्स को लेकर अपने बच्चों से खुलकर करें बात

आज भी हमारे देश में लोग अपने बच्चों से सेक्स की जानकारी के बारे में खुलकर बात नहीं करते हैं। आज का समय तकनीकी का समय है, जिसके चलते बच्चों के हाथों से अधिक समय तक स्मार्ट गैजेट्स का दूर रहना संभव नहीं है। बच्चे इंटरनेट की दुनिया की ओर की भागते हैं और अपनी जिज्ञासाएं शांत करते हैं। ऐसे में बच्चों को सेक्स की सही जानकारी नहीं मिल पाती है और वह सेक्स को अलग ही तरह से देखने लगते हैं। इसलिए कोशिश करनी चाहिए कि बच्चों को सही समय पर सही तरीके से सेक्स एजुकेशन देनी चाहिए। इसके लिए आपको बच्चों से सही तरीकों का ध्यान भी रखना चाहिए।

बच्चे को समझें

बच्चों से सेक्स जैसे संवेदनशील मुद्दे पर बात करते समय उनकी उम्र और समझ का विशेष ध्यान रखें। बच्चे की उम्र और समझ के हिसाब से उसे सेक्स से संबंधित जानकारी दें। ऐसा जरूरी नहीं है कि बच्चे को आप सेक्स की पूरी जानकारी दें लेकिन उसे जागरूर करने भर बातें बता सकते हैं।

बदलावों के बारे में बताएं

बच्चे जब बड़े होते हैं तो शारीरिक और मानसिक बदलाव होते हैं। कई बार देखा जाता है कि बच्चे इन बदलावों को समझ नहीं पाते है और दुविधा में रहते हैं। इसलिए बच्चों से इन बदलावों के बारे में बात करनी चाहिए और उन्हें इनके बारे में समझाना चाहिए। इन शारीरिक और मानसिक बदलावों के अर्थ के बारे में बताकर जागरुक करना चाहिए।

शांत तरीके से समझाएं

बच्चे को सेक्स से संबंधित जानकारी होने के चलते बच्चे पॉर्न विडियो सहारा लेते हैं। आपको इस बात की जानकारी होती है तो बच्चे पर गुस्सा न करें और उसे शांत तरीके से समझाएं। उसको सेक्स से जुड़ी जानकारी दें और उसे बताएं कि इंटरनेट से जानकारी लेने का तरीका गलत है।

बच्चों को समय दें

अकसर देखा जाता है कि बच्चों को माता-पिता का साथ कम मिलने के कारण बच्चे इंटरनेट की दुनिया की तरफ भागते या अपने दोस्तों से सेक्स से बारे में बात करते हैं। जहां से वह सेक्स से जुड़ी आधी-अधूरी जानकारी लेते हैं। यह उनके लिए सही नहीं होता है। इसलिए माता-पिता को अपने बच्चों को समय देना चाहिए।

प्यार से बात करें

अधिकतर घरों में बच्चों को इंटरनेट पर सेक्स जुड़ी जानकारी लेते देखने पर या पॉर्न विडियो देखने पर बडे़ सख्ती से बात करते हैं। उन्हें ऐसा बिलकुल नहीं करना चाहिए। ऐसे में बच्चों को प्यार से बात करें और सेक्स एजुकेशन के बारे जागरुक करना चाहिए।

गलत फैसला न लें

अगर आपका बच्चा पॉर्न देख रहा है तो उसे लेकर किसी नतीजे पर न पहुंचे और ये जानने की कोशिश करें कि आपके बच्चे न कैसे पॉर्न देखना शुरू किया। इस बारे में बात करें। प्यार से समझाएं , इसके खराब प्रभाव के बारे में बताएं।

समझदारी दिखाएं

माता-पिता या घर के बड़े को आगे बच्चे बहुत सी बातें नहीं पूछ पाते हैं और इंटरनेट से उनके बारे में जानकारी एकत्र करते हैं। ऐसे में बच्चे सेक्स की जानकारी के बारे में इंटरनेट पर जाते हैं और जब ये बात उनके घर में पता चलती है तो वह सख्त कदम उठा लेते हैं। घर के बड़ों का ऐसा करना बिलकुल गलत है। कोई कदम उठाने से पहले समझदारी दिखाएं।