Tuesday, June 02, 2020 09:13 AM

सैंपल… 52 की रिपोर्ट का इंतजार

बिलासपुर - जिला बिलासपुर में अब तक 1059 लोगों के सैंपल कोविड-19 के लिए लैब जांच के लिए आईजीएमसी शिमला भेजे गए हैं। उनमें से 1000 सैंपल की रिपोर्ट नेगेटिव आई हैं और 7 की रिपार्ट अभी तक पॉजिटिव आई है। शेष 52 सैंपल की रिपोर्ट आना अभी बाकी है। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. प्रकाश दरोच ने दी। उन्होंने बताया कि आज कल बाहर से बहुत ज्यादा संख्या में लोग अपने-अपने घरों को आ रहें हैं सभी की बार्डर पर स्वास्थ्य जांच की जा रही है और सरकार के आदेशानुसार जो रेड जोन क्षेत्र से आ रहे हैं उन्हें इंस्टीच्यूशनल क्वारंटाइन में रखा जा रहा है और 5 से 7 दिनों के अंदर उनका कोरोना टैस्ट किया जा रहा है और नेगेटिव आने पर ही उन्हें होम क्वारंटाइन में भेजा जा रहा है। बाकी को डॉक्टर की अनुमति के हिसाब से उनका क्वारंटाइन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आम जनता में किसी को भी बुखार, खांसी और सांस लेने में तकलीफ हो तो वो अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र जाकर बताएं अगर वो कोरोना टेस्ट के लिए कहें तो उनके द्वारा बताए गए स्वास्थ्य संस्थान में जाकर अपना टेस्ट अवश्य करवाएं। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा जारी आदेशों के अनुसार कार्यस्थल पर सामाजिक दूरी व मास्क अनिवार्य कर दिए है, घर से बाहर जाने पर मास्क का प्रयोग अनिवार्य तथा सार्वजनिक स्थानों पर थूकना भी दंडनीय अपराध है हम सबको इन बातों का पालन करना चाहिए। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के बारे में सभी को पूर्ण ज्ञान होना बहुत जरुरी है। इसके क्या लक्षण हैं इसके बचाव के लिए हमें क्या करना चाहिए और क्या नहीं। कोराना वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में संक्रमण के जरिए फैलता है। कोराना वायरस के लक्षण बुखार, खांसी व सांस लेने में तकलीफ  मुख्य हैं। उन्होंने बताया कि कोरोना से बचने के लिए सामाजिक दूरी बनाए रखें, अपने हाथों को साबुन व पानी से दिन में बार-बार कम से कम 20 सेकेंड तक अवश्य धोएं या सेनेटाइजर का उपयोग करें, खांसते व छिंकते समय नाक और मुंह रुमाल, टिशू पेपर व अपने बाजू की कोहनी से ढककर रखें, इस्तेमाल किए हुए मास्क का उपयोग एक बार में चार से छह घंटे ही करें इस्तेमाल के बाद उसे क्लोरिन घोल में डालने के बाद बंद कूड़ेदान में डाल दें। उन्होंने बताया कि जिन व्यक्तियों को सर्दी या फ्लू के लक्षण हों उनसे कम से कम एक मीटर की दूरी बनाकर रखें, पर्याप्त मात्रा में नींद लें और आराम करें, पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ और पोषक आहार लें, साफ-सफाई का खास ख्याल रखें, अंडे व मांस के सेवन से बचें लॉकडाउन का पालन करें।