Monday, July 22, 2019 01:31 PM

सोलन में दस दुकानों पर चला पीला पंजा

सोलन—शहर में रेलवे स्टेशन के समीप नगर परिषद द्वारा निर्माणाधीन पार्किंग को लेकर लगभग दस छोटी-बड़ी दुकानों पर बुधवार को पीला पंजा चला दिया। बताया जा रहा है कि यह दुकानें नगर परिषद के अधीन है और इन दुकानों को तोड़ने के लिए काफी समय पहले नोटिस जारी किए थे। हैरानी की बात तो यह है कि इन दुकानों में से अधिकतर दुकान सबलेट हुई थी और नोटिस देने के बाद दुकानदारों की तरफ  से कोई रिस्पॉन्स नहीं मिल रहा था। इसके बाद इन दुकानों को नगर परिषद द्वारा गिरा दिया गया है। बुधवार सुबह जैसे ही इन दुकानों को तोड़ने के लिए नगर परिषद के अधिकारी सहित पुलिस दलबल के साथ पहुंचे तो दुकानदारों में हड़कंप मच गया। जल्द बाजी में दुकानदारों ने अपना सामान इधर-उधर रख दिया। हालांकि सभी कार्य शांति पूर्ण हुआ है।  गौरतलब हो कि रेलवे स्टेशन के समीप प्रथम चरण में नगर परिषद द्वारा मल्टीस्टोरी पार्किंग का निर्माण लगभग पूरा हो गया है और दूसरे चरण में पार्किंग को जाने वाले रास्ते के निर्माण को लेकर कार्य शुरू होना है। रास्ते के निर्माण को लेकर आने वाली 10 नगर परिषद की दुकानों को तोड़ गया। बताया जा रहा है कि अगर इन दुकानों को नहीं हटाया जाता तब तक निर्माण कार्य तेजी से होना असंभव था। बता दे कि सोलन शहर में अकसर पर पार्किंग की समस्या रहती है इसको लेकर नगर परिषद द्वारा शहर के बीचोंबीच पार्किंग का निर्माण किया जा रहा है। इस पार्किंग का शिलान्यास छह अप्रैल 2006 को किया गया था और यह कार्य लगभग 13 साल बाद भी पूरा नहीं हो पाया है। इन दिनों पार्किंग का काम आखिरी चरण में है, लेकिन पाकिंज़्ग के लिए आने जाने में दुकानें अवरोधक बन रही थी। इन पर अधिकतर लोगों ने कब्जा किया हुआ था। कई बार नगर परिषद द्वारा नोटिस देने के बाद इन दुकानों को तोड़ दिया गया है।

सामान लेकर बाहर खड़े हो गए दुकानदार

रेलवे स्टेशन के समीप जैसे ही दुकानों पर नगर परिषद की टीम कार्रवाई करने पहुंची तो दुकानदार दंग रह गए और आनन-फानन में अपना सामान इधर-उधर रख दिया। काफी सालों से इन दुकानों में कार्य कर रहे लोगों ने अपनी आंखों के सामने दुकानों को टूटते हुए देखा और घंटों भर अपने सामान के साथ बाहर खड़े रहे।

पालिका बाजार में दी गई दुकानें

नगर परिषद के अध्यक्ष देवेंद्र ठाकुर ने बताया कि पार्किंग निर्माण को लेकर लगभग दस दुकानों को तोड़ा गया है। जिन दुकानों पर आज कार्रवाई की गई है उनके असली हकदारों को कार्यालय के समीप बने पालिका बाजार में दुकाने दी जाएगी।