Monday, December 16, 2019 06:04 AM

सौर ऊर्जा से रोशन होंगे धर्मशाला के चार दफ्तर

बोर्ड की बजाय अपनी बिजली से चलेंगे स्पोर्ट्स कांप्लेक्स, अस्पताल, शिक्षा बोर्ड व कम्युनिटी हाल

धर्मशाला -स्मार्ट सिटी धर्मशाला में अब सौर ऊर्जा से 342 किलोवाट केवी बिजली तैयार होगी।  बिजली बोर्ड से बिजली खरीदने की बजाय अपने कार्यालय की छत के सौर सिस्टम से तैयार होने वाली बिजली से चार कार्यालय चलेंगे। इनमें स्पोर्ट्स कांप्लैक्स, क्षेत्रीय अस्पताल, शिक्षा बोर्ड व कम्युनिटी हाल धर्मशाला में सौर ऊर्जा का काम पूरा कर लिया गया है। स्मार्ट सिटी लिमिटेड के तहत पहला ऐसा कार्य  है, जिसे 1.59 करोड़ रुपए खर्च करके पूरा कर लिया गया है। अब मात्र शिमला से इलेक्ट्रिक्ल विंग से औपचारिक हरी झंडी मिलना बाकी है।  हालांकि धर्मशाला टाउन पेयजल स्कीम 29 करोड़ को स्मार्ट सिटी में कनवर्जन किया गया है। इसके अलावा अन्य योजनाओं पर बड़ी-बड़ी फाइलें बन पाई हैं, लेकिन धरातल में उतर नहीं पाई है। अगस्त माह में धर्मशाला के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट को बड़ी कामयाबी मिली है।   इसके लिए स्मार्ट सिटी द्वारा अब इलेक्ट्रिक्ल विंग शिमला के इलेक्ट्रिक्ल इंस्पेक्टर को पत्र लिखा गया है, अब वह धर्मशाला में पहुंचकर केवी को फाइनल करेंगे, जिसके बाद स्मार्ट सिटी में सूरज से बिजली को तैयार कर कामकाज चलाया जाएगा। इससे हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट की बिजली की बचत भी हो सकेगी, साथ ही कार्यालयों को बिजली बिल का भुगतान भी नहीं करना पड़ेगा। उक्त सोलर सिस्टम को शहर में बनाने के लिए 1.59 करोड़ रुपए का बजट खर्च किया गया है।