Thursday, November 14, 2019 02:14 PM

स्क्रैप प्रकरण खंगालेगी विजिलेंस

शिमला -नगर निगम का लाखों रुपए का कबाड़ निगम की परमिशन के बिना ही बेचने के मामले में विजिलेंस इन्कवायरी की मांग की जा रही है। शिमला जल प्रबंधन निगम द्वारा हाउस की अनुमति के बिना स्क्रैप बेचा गया था। हैरानी की बात तो यह है कि यह स्क्रैब लाखों रुपए का कबाड़ गुपचुप तरीके से बेचा गया था। इसके बाद इस मामले की विजिलेंस इन्कवायरी की जानी है। इस बार निगम की मासिक बैठक में कंपनी के अधिकारियों से पूरी रिपोर्ट मांगी गई है। वहीं, नगर निगम के पार्षद भी इस मामले की सही जांच की मांग कर रहे हैं। गौर हो कि बीते हाउस में भी इस बात पर हंगामा हो चुका है। ऐसे में मेयर कुसुम सदरेट सहित पार्षदों ने स्क्रैप बिक्री मामले में विजिलेंस जांच की मांग की है।