Friday, February 21, 2020 12:46 PM

स्नैल में दबी लाशों को निकालने में उलझा उत्तरकाशी-हिमाचल प्रशासन

रोहडू -उतरांचल व जुब्बल की सीमा पर बादल फटने से भारी तबाई मची है। जहाँ इस बादल फटने से दर्जनो गाडि़यां, टिपर व जेसीबी मशीन मलवे दब गई है वही कुछ लोगों के अभी भी मलबे में दबने की आशंका है। प्रशासन कल से लोगों के खोजने  मंे लगा है। बादल 18 अगस्त को सवेरे नौ बजे फटा है लेकिन अब तक यहां पर कितनी लाशे दबी है और कितनी गाडि़यां दबी है इसकी गिनती हिमाचल औऱ उतरकाशी के लिए टेड़ी खीर ही बनती जा रही है। स्थानीय लोगों की माने तो यहां पर अभी काफी स्थानीय व नेपाली लोग लापता चल रहे है। अभी तक प्रशासन ने चार लोगों के मलवे मे दबे होने की पुष्टि की है पर प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक मलबे मेे काफी लोग के दबे होने की आशंका जता रहे। प्रशासन लोगो को खोजने व सड़क से मलवे हटाने मे लगा है। इस बादल फटने से जहाँ कई लोग जो यहां पर काम करते थे जो बैघर हो गए है । लोगों की दकानों में मलबा घुस गया है। रोहड़ू नेरवा व त्योनी मार्ग इसके कारण कई दिनों के लिए बंद हो गया है। इस मार्ग के बंद ने से उतरांचल क्षेत्र भी रोहड़ू से कट गया है जिस नाले मे यह बादल फटा उसके पार उतरांचल व आर को जुब्बल क्षेत्र की सीमा है।