Monday, September 23, 2019 02:44 AM

स्वतंत्रता सेनानी से दुर्व्यवहार…मांगी जांच

संघ ने मुख्यमंत्री से लगाई गुहार, आफिस-समारोहों में उचित सम्मान देने की भी मांग

हमीरपुर -बिलासपुर के स्वतंत्रता सेनानी से दिल्ली में हुआ दुर्व्यवहार एक निंदनीय घटना है। इससे स्वतंत्रता सेनानी परिवारों व उनके आश्रितों को काफी ठेस पहंुची है। यह बात हिमाचल प्रदेश स्वतंत्रता सेनानी एवं उत्तराधिकारी कल्याण संघ के प्रदेशाध्यक्ष पुरुषोत्तम कालिया ने कही। उन्होंने कहा कि बिलासपुर जिला के कुठेड़ा गांव के स्वतंत्रता सेनानी डंडू राम को दिल्ली में राष्ट्रपति भवन में पहले तो सम्मानित करने के लिए बुला लिया जाता है, लेकिन बाद में उसे सम्मािनत नहीं किया गया। इससे उन्हें मानसिक पीड़ा पहंुची है। कालिया ने कहा कि अगर उनका नाम  सूची में से  निरस्त कर दिया गया था, तो इसकी सूचना उन्हें हिमाचल सरकार द्वारा समय पर दी जानी चािहए थी। एक तरफ तो सरकार स्वतंत्रता सेनानियों और उनके परिवारों को सम्मान देने की बात करती है, वहीं दूसरी ओर उन्हें बेइज्जत किया जा रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से इस सारे प्रकरण की जांच करवा कर दोषियों के खिलाफ  उचित कार्रवाई करने की मांग की है। उन्होंने चेताया है कि अगर इस सारे प्रकारण की शीघ्र जांच न हुई, तो संघ कड़ा रुख अख्तियार करने से भी गुरेज नहीं करेगा। उन्होंने मुख्यमंत्री से यह भी मांग की है कि स्वतंत्रता सेनानियों और उनके आश्रितों को सरकारी समारोहों तथा सरकारी कार्यालयों में उचित सम्मान दिया जाए। इस अवसर पर महासचिव हरीश गुप्ता, बिलासपुर के प्रधान रविंद्र सिंह, ऊना के प्रधान ओपी डांग, मंडी के प्रधान अश्वनी कटोच तथा कांगड़ा के प्रधान नवरतन नाग ने भी इस घटनाक्रम की कडे़ शब्दों में निंदा की है।