Monday, July 22, 2019 12:58 PM

स्वास्थ्य से लापरवाही

रूप सिंह नेगी, सोलन

हिमाचल में निर्मित दवाइयों के सैंपल फेल होने के समाचार पिछले दशकों से सुनते आ रहे हैं, लेकिन यह नहीं सुनने में आता है कि ऐसी कंपनियों के खिलाफ नोटिस देने के अलावा और कुछ कार्रवाई हुई हो। दवाइयों के सैंपल फेल होने की रिपोर्ट आने से पहले यदि उन दवाइयों की बिक्री की जाती है, तो यह अति गंभीर मामला है। प्रदेश सरकार को ऐसी दवा कंपनियों पर कानूनी कार्रवाई करने से पीछे नहीं हटना चाहिए, क्योंकि यह जनता की सेहत से जुड़ा अहम मामला है। बिना सैंपल पास करवाए यदि दवाइयों की बिक्री की जा रही है, तो सरकार को उन कंपनियों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए।