Monday, February 17, 2020 07:06 AM

हक के लिए जंग छेड़ेंगे मुलाजिम

विद्युत बोर्ड कर्मचारी यूनियन की प्रबंधन को चेतावनी, 27 को करेंगे मंथन

नगरोटा बगवां - हिमाचल प्रदेश राज्य विद्युत बोर्ड इंप्लाइज यूनियन का सम्मेलन नगरोटा बगवां में हुआ। इसकी अध्यक्षता यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सिंह खरवाड़ा ने की । उन्होंने बोर्ड के प्रबंधक वर्ग को चेताया कि अगर कर्मचारियों की मागों को हल करने के लिए अतिशीघ्र बैठक नहीं बुलाई तो यूनियन 27 अगस्त को केंद्रीय कार्यकारिणी की बैठक करके संघर्ष का बिगुल बजा देगी। प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह खरवाड़ा ने कहा कि विद्युत बोर्ड में औसतन 1800 कर्मचारी सलाना सेवानिवृत्त हो रहे है। इससे बिजली कर्मचारियों पर काम का बोझ बढ़ता जा रहा है। उन्होंने कहा कि विद्युत बोर्ड प्रबंधक वर्ग ने आठ अगस्त, 2017 को बढ़ते कार्यभार को देखते हुए भर्तियों के लिए नए नियम बनाने के लिए एक आठ सदस्यीय कमेटी का गठन किया था, जिसने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि जुलाई, 1991 में परिचालन आप्रेशन विंग में फील्ड कर्मचारियों की संख्या 10050 थी और बिजली उपभोक्ताओं की संख्या लगभग 10 लाख थी, जबकि आज बिजली बोर्ड में छोटी-बड़ी लाइनों में 1991 के मुकाबले 209.4 प्रतिशत वृद्धि हुई है और उपभोक्ताओं की संख्या भी 22 लाख को पार कर चुकी है। इसके विपरीत परिचालन विंग में इतनी ढाचांगत वृद्धि होने के बावजूद तकनीकी कर्मचारियों की संख्या लगभग 7000 रह गई है । इस अवसर पर उपाध्यक्ष कामेश्वर दत शर्माए, सुनीता कुमारी, मनोज सूद, ओपी शर्मा, राजेंद्र कुमार, जोगिंद्र, गुलशन कुमार व कुलदीप कुमार आदि उपस्थित रहे।