Sunday, September 22, 2019 07:20 AM

हमीरपुर की बेटी को अवार्ड

हमीरपुर - शिक्षा के क्षेत्र में अपने बेहतरी सेवाओं और बहुमूल्य योगदान के लिए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) अकेडमिक इयर 2018-19  के लिए इस बार देश के विभिन्न स्कूलों में सेवारत 35 विभूतियों को सम्मानित करेगा। इन 35 विभूतियों में सम्मान पाने वालों में नारी शक्ति ने एक बार फिर अपना डंका बजाया है। पांच सितंबर को शिक्षक दिवस के अवसर पर नवाजी जाने वाली इन हस्तियों में 26 शिक्षिकाएं हैं, जबकि नौ शिक्षक हैं। इन शिक्षकों में प्रिंसीपल, वाइस प्रिंसीपल के अलावा पीजीटी, टीजीटी और प्राइमरी टीचर भी शामिल हैं। गर्व की बात यह है कि इन 35 शिक्षकों में सम्मान पाने वालों में हमीरपुर की बेटी ज्योतिका गुलेरिया भी शामिल है। ज्योतिका गुलेरिया का नाम लिस्ट में पांचवें स्थान पर है। वह विगत 12 वर्षों से चंडीगढ़ में सेवारत हैं और मौजूदा समय में भवन विद्यालय सेक्टर 27 बी मध्य मार्ग चंडीगड़ में बतौर प्राइमरी टीचर कार्यरत हैं। ज्योतिका गुलेरिया की बात करें तो वे हमीरपुर शहर के वार्ड नंबर एक में पली बढ़ी और राजकीय स्नातकोतर महाविद्यालय हमीरपुर से विज्ञान संकाय में स्नातक करने के बाद उन्होंने अगे्रंजी विषय में मास्टर की डिग्री की।

रामेश्वर को क्लार्क आर बेविन लॉ एनफोर्समेंट अवार्ड

शिमला  - केंद्र सरकार में प्रतिनियुक्त 2003 बैच के आईपीएस अधिकारी आरएस ठाकुर को अमरीका के प्रतिष्ठित पुरस्कार क्लार्क आर बेविन लॉ एनफोर्समेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया है, जो इन्हें 20 अगस्त को जेनेवा में प्रदान किया गया। पुरस्कार मिलने से शिमला एयरपोर्ट जुब्बड़हट्टी के लोहाली खैरी गांव में एक किसान के घर पैदा हुए रामेश्वर सिंह ठाकुर के घर इन दिनों बधाई देने वालों का तांता लगा है। यह पुरस्कार अमरीका के एनिमल वेलफेयर इंस्टीच्यूट द्वारा पूरे संसार से ऐसे अधिकारियों को दिया जाता है, जो वाइल्ड लाइफ  क्राइम अर्थात वन्य प्राणियों के अंगों की अंतरराष्ट्रीय तस्करी रोकने के लिए बेहतरीन कार्य करते हैं। केंद्र के वाइल्ड लाइफ ब्यूरो में 2013 से उपनिदेशक के पद रहते हुए आरएस ठाकुर ने वन्य जीव जंतुओं की तस्करी को रोकने के लिए खुफिया नेटवर्क को लांच करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

सीमा कालेज एनएसएस को राष्ट्रपति पुरस्कार

रोहडू - पीजी कालेज सीमा राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई को राष्ट्र सेवा में उत्कृष्ट योगदान के लिए राष्ट्रपति पुरस्कार के लिए चयन हुआ है। भारत सरकार के युवा सेवाएं मंत्रालय की ओर से कालेज का चयन देश के टॉप 10 व प्रदेश के पहले कालेज के रूप मे हुआ है। इस सम्मान के तहत कालेज मे पिछले 12 वर्षों से कार्यक्रम अधिकारी रहे डा. गोपाल शर्मा व एनएसएस  स्वयंसेवी नीरज शर्मा को व्यक्तिगत रूप से व साथ ही कालेज प्राचार्य को यह पुरस्कार मिलेगा। कालेज की एनएसएस इकाई का चयन देश भर की चार हजार इकाइयों में से टॉप टेन में चुना गया है। वहीं स्वयंसेवी नीरज शर्मा को इस पुरस्कार के लिए 37 लाख स्वयंसवियों में से चुना गया है। पुरस्कार के तहत कालेज को बेस्ट एनएसएस यूनिट चयनित होने पर प्राचार्य को एक एक लाख रुपए नकद व ट्रॉफी, बेस्ट कार्यक्रम अधिकारी के रूप में डा. गोपाल शर्मा को 70 हजार रुपए व सिल्वर मेडल, बेस्ट स्वयंसेवी नीरज को बतौर इनाम 50 हजार रुपए एवं समृति चिन्ह व प्रमाण पत्र मिलेगा।