Monday, August 26, 2019 10:16 AM

हमीरपुर में बौना पैदा हो रहा हर चौथा बच्चे

हमीरपुर-शिक्षा के हब हमीरपुर मंे हर चौथा बच्चा बौना है। कुपोषण का शिकार हुए इन बच्चों का शारीरिक विकास नहीं हो पा रहा। उम्र तो बढ़ रही है, लेकिन इनकी हाइट नहीं बढ़ रही। पोषण अभियान के तहत किए गए सर्वे में यह चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। हमीरपुर में 29.3 प्रतिशत बच्चे नाटे कद के पाए गए हैं। सामने आए इन आंकड़ों के बाद संबंधित विभाग की भी चिंता बढ़ गई है। भविष्य में यह आंकड़ा बढ़ने की बजाय कम हो, इसके लिए अब प्रयास तेज होंगे। ऐसे क्या कारण रहे, जिसकी वजह से बच्चे कुपोषण का शिकार हुए और उनकी बॉडी ग्रोथ रुक गई। इस पर मंथन शुरू हो गया है। निकट भविष्य में कुपोषण के कारण नाटेपन का शिकार बच्चे न हो, इसके लिए योजना बनेगी। फिलहाल आंकड़े सामने आने के बाद विभाग सहित प्रशासन की चिंताएं भी बढ़ गई हैं। जाहिर है कि पोषण अभियान के तहत हिमाचल के पांच जिला का चयन किया गया है। इनमें एक हमीरपुर जिला भी है। शिक्षा के हब हमीरपुर की सेहत जांचने के लिए पोषण अभियान के तहत बच्चों का सर्वे किया गया। सर्वे पूरा होने पर सामने आए आंकड़े सभी को हैरत में डालने वाले हैं। आज सबसे शिक्षित जिला ठिगनेपन की मार झेल रहा है। हमीरपुर में पैदा हो रहा हर चौथा बच्चा कुपोषण की चपेट में आकर ठिगनेपन का शिकार हो रहा है। सर्वे में पता चला कि हमीरपुर जिला के 29.3 फीसदी बच्चे ठिगनेपन के शिकार हो गए हैं।इनकी हाइट इनकी उम्र के मुताबिक नहीं बढ़ रही। आखिकर इन बच्चों मंे पोषण की कहां कमी रह गई। क्या इनके खानपान में किसी तरह की कमी है, या फिर इनकी परवरिश में परिजनों से कोई कमी रह गई। इन सभी तथ्यों को समक्ष रखकर विभाग काम कर सकता है। इसके बाद ठिगनेपन के कारण सामने आएंगे। कारण पता चल जाने के बाद इस समस्या के समाधान के प्रयत्न तेज होंगे। फिलहाल जो भी हो, लेकिन सामने आए आंकड़ों ने संबंधित विभाग के होश जरूर उड़ा दिए हैं।