Monday, January 20, 2020 03:50 PM

हम बदलेंगे… तभी बदलेगा हमारा समाज

जवाली  - एनएसएस छात्रों के चरित्र-निर्माण तथा व्यवहारिक ज्ञान देने का सशक्त माध्यम है। स्वयंसेवक सेवा के माध्यम से आदर्श बनकर वंचितों को आगे बढ़ाने में प्रकाश स्तंभ का काम करते हैं। हम बदलेंगे, तभी हमारा समाज बदलेगा। उक्त शब्द राजकीय वरिष्ठ माध्यम पाठशाला सिद्धपुरघाड़ के प्रधानाचार्य विनोद बर्धन ने स्वच्छता, स्वास्थ्य तथा शिक्षा’ विषय पर आयोजित सात दिवसीय विशेष शिविर के छठे दिन  पर कही। उन्होंने कहा कि  किसी बात पर हमारा आपसी मतभेद हो सकता है, पर राष्ट्रहित के लिए हम सब हमेशा एक बने रहें। उन्होंने खेद व्यक्त करते हुए कहा कि आज आदर्श खत्म हो रहा है, जिसको बचाने के लिए युवाओं को आगे आना होगा। एनएसएस के प्रभारी अशोक कौंडल ने कहा कि विशेष शिविर सामाजिक सरोकार से जुड़ा है, जो युवाशक्ति का उपयोग समाज-कल्याण तथा राष्ट्र-विकास में करता है। एनएसएस शिक्षा का अभिन्न अंग है, जो छात्रों को आत्मविश्वासी तथा मानवीय गुणों से युक्त बनाता है। यह शिक्षण संस्थानों को समाज से प्रत्यक्षतः जोड़ता है। इसकी स्थापना का मूल उद्देश्य युवाओं में सामाजिक चेतना तथा दायित्व बोध की भावना का विकास करना है। इस मौके पर राज, राकेश, प्रेम, सुनील, दीनानाथ, अजय, सीमा व पूजा चौधरी विशेष रुप से उपस्थित रहे।